बॉडी बिल्डिंग के लिए ब्रेस्ट मिल्क का किया जाता है इस्तेमाल?

मां का दूध बच्चे के लिए सबसे सुरक्षित है। मां जितना संतुलित आहार लेती हैं, स्तनों में उतना ही ज्यादा दूध बनता है। ब्रेस्ट मिल्क में बच्चे के शरीर में प्रतिरोधक क्षमता को विकसित करने की क्षमता होती है। जो कि दूसरे दूध में नहीं मिल सकती है। मां जब बच्चे को स्तन से लगाती है तो ऑक्सीटोसिन हॉर्मोन के कारण स्तनों से दूध बाहर आता है, जिससे मां-बच्चे के बीच भावनात्मक जुड़ाव भी विकसित होता है। अब बात करते हैं कि ब्रेस्ट मिल्क में कौन-कौन से पोषक तत्व पाए जाते हैं।

ब्रेस्ट मिल्क की तुलना में गाय के दूध या सोयाबीन मिल्क में ज्यादा प्रोटीन पाया जाता है। बॉडी बिल्डिंग के लिए ब्रेस्ट मिल्क एक कप अगर कोई लेता है तो उसे 87 फीसदी पानी, 7 फीसदी लैक्टोज, 1 प्रतिशत प्रोटीन और 3.8 प्रतिशत फैट पाया जाता है।

जैसा कि आपको पता है कि बॉडी बिल्डिंग के लिए प्रोटीन की कितनी ज्यादा आवश्यकता होती है। बॉडी बिल्डिंग के लिए ब्रेस्ट मिल्क में उतना प्रोटीन नहीं पाया जाता है, जितने की शरीर को जरूरत होती है, लेकिन ब्रेस्ट मिल्क में इंसुलिन लाइक ग्रोथ फैक्टर पाया जाता है। जो वर्कआउट के बाद मसल्स टिश्यू की तेजी से मरम्मत (Repairing) करता है।

कुछ वैज्ञानिकों और ट्रेनर ने इस बात को माना है कि बॉडी बिल्डिंग के लिए ब्रेस्ट मिल्क लेने से हमारी मसल्स की ग्रोथ होती है। साथ ही हमें कैलोरी भी मिलती है, जितना हम वर्कआउट में खर्च करते हैं। आज भारत में लोग 30 मिलीलीटर ब्रेस्ट मिल्क के लिए लगभग 200-300 रुपए खर्च कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »