खिलाड़ियों को इन लोगों के साथ जाने पर मिली बड़ी चुनौतियां

इंडियन प्रीमियर लीग चुनोतियो से कम नहीं रहा है. आईपीएल लीग कैसे करवाई जाएगी. इस बैठक में चर्चा के अहम बिंदु होंगे। इस बैठक में यूएई में होने वाले आईपीएल के लिए स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर को अंतिम रूप दिया जाएगा. आईपीएल फ्रैंचाइजी में आमतौर पर 25-28 खिलाड़ी होते हैं. इसके अलावा कम-से-कम 10 से 15 सदस्य सपॉर्ट स्टाफ के होते हैं. कि आईपीएल फ्रैंचाइजी को अपना खुद का बायो-बबल तैयार करना पड़ेगा. आईपीएल शुरू होने से करीब एक महीना पहले यूएई पहुंचना भी शामिल है. इसके अलावा अपने दल के सदस्यों की संख्या भी कम रखना भी एक विकल्प हो सकता है।

आईपीएल 2014 में यूएई में खेला गया था. उस दौरान टीमें छोटा दल लेकर गई थीं. आमतौर पर फ्रैंचाइजी सीजन के बीच में ही कई खिलाड़ियों को रिलीव कर देती हैं. फ्रैंचाइजी से कहा गया है कि खिलाड़ियों की संख्या 20 तक सीमित करने को कहा गया है। कम से कम भीड़ रखना है. फ्रैंचाइजी को लगता है कि खिलाड़ियों की संख्या कम नहीं करनी चाहिए. कुछ फ्रैंचाइजी कोच या टीम मैनेजमेंट पर आखिरी फैसला छोड़ सकती है. अगर कोई लिमिट लगाई भी जाती है. बेहतर होगा कि कुल संख्या पर लगाई जाए।

चेन्नई सुपर किंग्स की टीम 10 अगस्त को दुबई पहुंच जाएगी. और कोलकाता नाइट राइडर्स 19-20 अगस्त और बाकी टीमें 25 अगस्त तक पहुंच सकती हैं. उन्होंने खिलाड़ियों को तैयार रहने और 10 अगस्त को निकलने को कहा है. इस तरह आईपीएल की सब टीम दुबई मे जाकर अपना अभ्यास शुरू कर सकती है और आईपीएल के लिए रणनीति भी तय कर सकती है और अगर आईपीएल के किये कोई भी नियम या कानून आते है तो उनका भी पालन करना होगा जिससे काफी कुछ अलग होगा इस आईपीएल 13 वें सीजन मे जल्द ही अभ्यास शुरू कर सकती है और काफी कुछ अलग भी होगा इस आईपीएल के दौर मे. यह आईपीएल का सीजन काफी अहम होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »