चावल के पानी के फायदे

कांजी पानी को ब्राउन राइस से तैयार किया जाता है। यह पचाने में हल्का होता है। यह निर्जलीकरण, दस्त, हैजा (cholera) और गैस्ट्रोएन्टेराइटिस (gastroenteritis) में सहायक चिकित्सा के रूप में प्रयोग किया जाता है। परंपरागत रूप से, यह ल्‍यूकोरिया का इलाज करने के लिए भी प्रयोग किया जाता है। आयुर्वेद में, कांजी को कुछ जहरीले पदार्थ डी‌‌टॉक्सिफ़ाई और शुद्ध करने के लिए प्रयोग किया जाता है। उदाहरण के लिए, गुलगुंजी (rosary peas) को कांजी पानी में 3 से 6 घंटे के लिए विषाक्त प्रभाव को कम करने के लिए उबाला जाता है। शायद आप ने चावल के पानी का सेवन किया होगा जब अब बच्चे या जब आप बीमार थे। हो सकता है कि आपको इसका स्वाद पसंद न आएं, लेकिन इस मिश्रण से कई स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं। तो आइए जानते हैं कांजी पानी यानि चावल के पानी के बारे में –

चावल का पानी पीने के फायदे एनर्जी के लिए –
कांजी या चावल का पानी कार्बोहाइड्रेट में समृद्ध होता है और इसलिए यह ऊर्जा का एक उत्कृष्ट स्रोत है। कार्बोहाइड्रेट को तोड़कर शरीर आसानी से ऊर्जा प्राप्त कर सकता है। सुबह बाहर निकलने से पहले एक गिलास चावल के पानी का पिएं और इससे आपको ऊर्जा की कमी के कारण कभी भी चक्कर आना या कमजोर नहीं लगेगा।

कांजी पानी दिलाएं कब्ज से राहत –
यह फाइबर में समृद्ध होता है और स्मूथ बोवेल मूव्मेंट्स की सुविधा प्रदान करता है। इसके अलावा, इसमें मौजूद स्टार्च स्वस्थ आँतों के कार्यों को बढ़ावा देकर पेट में उपयोगी बैक्टीरिया की वृद्धि को उत्तेजित करता है जिससे कब्ज जैसी समस्या से राहत मिलती है।

चावल का पानी बच्चों के लिए लाभदायक होता है –
चावल के पानी का इस्तेमाल एशियाई संस्कृति में शिशुओं के लिए इस्तेमाल किया जाता है। शिशुओं के पेट को व्यवस्थित करने के लिए चावल के पानी को पिलाया जाता है।

चावल के पानी के लाभ बचाएं निर्जलीकरण से –
एक गर्म धूप वाले दिन आप चावल का पानी पी सकते हैं। गर्मियों में, शरीर पसीना के माध्यम से पानी और नमक खो देता है और चावल का पानी खोने वाले पोषक तत्वों और पानी की भरपाई करने में मदद करता है, जिससे निर्जलीकरण की संभावना कम हो जाती है।

चावल के पानी के फायदे से शरीर स्वस्थ रहता है –
चावल के पानी को पीने से एक्जिमा, बुखार और अन्य बैक्टीरियल संक्रमण को ठीक करने में काफी मदद मिलती है। यह ऊर्जा से भरपूर होता है और इसमें कैलोरी की मात्रा भी कम होती है।

कांजी पानी है वायरल इन्फेक्शन में उपयोगी –
चावल का पानी बुखार के लिए एक उपाय के रूप में व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है क्योंकि यह वायरल संक्रमण के दौरान बुखार और उल्टी के कारण पानी के नुकसान को रोकता है। यह खोए पोषक तत्वों की भरपाई करने में मदद करता है और रिकवरी प्रक्रिया की गति को बढ़ाता है।

चावल के पानी का उपयोग मांसपेशियों को बढ़ाए –
आप सभी अपनी मांसपेशियों को अच्छा बनाना चाहते हैं। इसके लिए अधिक मेहनत करने की जरूरत होती है। लेकिन ये कार्य इतना आसान नहीं होता। ऐसे समय में, चावल के पानी में मौजूद एमिनो एसिड मांसपेशियों को बढ़ाने में मदद करता है। इस प्रकार, अगर आप बेहतरीन मांसपेशियां चाहते हैं तो चावल के पानी के साथ-साथ रोजाना व्यायाम भी जरूर करें।

राइस वाटर के फायदे दस्त में –
दस्त का इलाज करने के लिए चावल का पानी एक उत्कृष्ट घरेलु उपाय है, न केवल बड़ों में बल्कि शिशुओं में भी। शिशुओं में दस्त जैसी बिमारियों से ग्रस्त होने की सम्भावना अधिक होती है और यदि सही समय पर इलाज नहीं किया जाए तो गंभीर निर्जलीकरण हो सकता है। एक अध्ययन में पाया गया कि शिशुओं में मल उत्पादन की मात्रा और आवृत्ति कम करके चावल का पानी दस्त को नियंत्रित करने में अधिक प्रभावी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »