भारतीय चमगादड़ों में बैट कोरोना वायरस होने की हुई पुष्टि

इस शोध के लिए वैज्ञानिकों ने भारत के 10 राज्यों के चमगादड़ों के सैंपल लिए। इनमें से चार राज्यों के चमगादड़ों की दो प्रजातियों में बैट कोरोना वायरस मिलने की पुष्टि हुई है। जानकारी के अनुसार, ये चमगादड़ रौजेत्तुस और टेरोपस प्रजाति के हैं। कुल 25 चमगादड़ बैट कोव पॉजिटिव देखे गए हैं।

आईसीएमआर की रिपोर्ट के अनुसार, तमिलनाडु, हिमाचल प्रदेश, पुदुचेरी और केरल में चमगादड़ की प्रजातियों में बैट कोरोना वायरस (BtCoV) होने की पुष्टि हुई है। हालांकि बैट कोरोना वायरस वर्तमान में फैले कोविड-19 वायरस से अलग है।

चार राज्यों में बैट कोरोना वायरस मिलने से हुई घबराहट पर पुणे स्थित राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान (एनआईवी) की वैज्ञानिक और इस विषय पर अध्ययन करने वाली मुख्य लेखिका डॉ. प्रज्ञा डी. यादव ने बताया, “तमिलनाडु, हिमाचल प्रदेश, पुदुचेरी और केरल में बैट कोरोना वायरस जरूर मिले हैं, लेकिन अभी तक इस बात का पुष्टि नहीं हुई है कि बैट कोरोना वायरस से मानव जीवन को कोई खतरा है या इस वायरस से मनुष्यों को किसी तरह की बीमारी हो सकती है।”

डॉ. प्रज्ञा डी. यादव ने बताया, “चमगादड़ का शरीर एक तरह से वायरस का घर होता है और इसलिए चमगादड़ों में स्वाभाविक रूप से कई प्रकार के वायरस पाए जाते हैं। इससे पहले केरल में ही साल 2018 और 2019 में इसी टेरोपस प्रजाति के चमगादड़ों में निपाह वायरस भी मिला था, लेकिन अब तक यह नहीं पता चल सका है कि भारत में मिलने वाले बैट कोरोना वायरस चमगादड़ का कोविड-19 महामारी से कोई संबंध है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »