स्मोकिंग के साथ-साथ इन चीजों से भी करें परहेज, नहीं तो हो सकते है आप इन बीमारियों का शिकार

स्मोकिंग से गम्स के टिशू सेल पर बुरा असर पड़ता है। धूम्रपान से दांतों को नुकसान पहुंचाने के लिए बैक्टीरियल प्लाक भी जिम्मेदार होता है। बैक्टरीरियल प्लाक काफी मात्रा में बनता है। इससे मसूड़ों की बीमारी होती है। स्मोकिंग करने से ब्लड सर्कुलेशन में ऑक्सिजन की कमी होती है और मसूड़े प्रभावित होते हैं।

कैंडीज दांतों में चिपक जाती हैं। कैंडी में कई तरह के एसिड होते हैं। ये एसिड्स दांतों पर लम्बे समय तक बने रहते हैं। इस वजह से दांतों में सड़न की संभावना बढ़ जाती है।

Image result for Smoking

एल्कोहॉल के सेवन से लार कम बनती है। सलाइवा या लार दांतों को स्वस्थ रखने के साथ ही खाने को दांतों में चिपकने से रोकती है। दांतों की समस्या से बचना चाहते हैं तो मुंह को हाइड्रेट रखें।

धूम्रपान से दांतों को नुकसान पहुंचता है लेकिन कोल्ड ड्रिंक्स भी दांतों को नुकसान पहुंचाने में पीछे नहीं होती। कोल्ड ड्रिंक्स को कार्बोनेटेड पानी से बनाया जाता है। इसकी वजह दांत और मसूड़े कमजोर हो जाते हैं।

Image result for Smoking

आलू के चिप्स मोटापा ही नहीं दांतों की सेहत के लिए भी नुकसानदायक होते हैं। इनमें स्टार्च होने की वजह बैक्टीरिया ज्यादा पनपते हैं। इस वजह से दांतों को नुकसान पहुंचता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »