हमेशा जवान बने रहने के लिए करें इस औषधि का सेवन

कई लोग ऐसे होते हैं जो अपने शारीरिक विकास को लेकर काफी परेशान रहते हैं। कभी उनके असमय बाल पक जाते हैं तो कभी उनके असमय दांत टूटने लगते हैं कभी असमय उनका शरीर बुढ़ो जैसा दिखने लगता है ।दोस्तों आज हम आपको एक ऐसी औषधि के बारे में बताने जा रहे हैं जो मनुष्य के शरीर पर जब बुढ़ापा आने ही नहीं देता है इस औषधि के सेवन मात्र से ही मनुष्य हमेशा जवान बना रहता है तो दोस्तों देर ना करते हुए आज हम उस औषध के बारे में आपसे बात करें।

पृथ्वी पर अश्वगंधा और केसर एक ऐसे औषध हैं जिनके सेवन मात्र से मनुष्य में तमाम प्रकार के रोगों का मूल नाश हो जाता है यही कारण है कि केसर और अश्वगंधा को भारतीय आयुर्वेद शास्त्र में काफी उच्च स्थान में रखा गया है और इसे अमृत के समान भी माना गया है दोस्तों यदि आप के सर और अश्वगंधा का प्रयोग आप अपने दैनिक जीवन में करते हैं तो आपके लिए काफी फायदेमंद होता है दोस्तों जहां केसर और अश्वगंधा से शरीर में तमाम प्रकार के रोग जैसे सर्दी खांसी जुखाम बुखार सांस फूलना अस्थमा उच्च रक्तचाप कैंसर डायबिटीज ग्लूकोमा रतौंधी नसों की दुर्बलता बांझपन जैसी अनेक प्रकार की समस्याओं का हल मात्र चुटकियों में हो जाता है।

अश्वगंधा और केसर का प्रयोग कैसे हम करें सबसे पहले इस चीज के बारे में जानकारी होना परम आवश्यक होता है यदि आप इस चीज के बारे में अधूरी जानकारी रखते हैं तो या आपके लिए काफी घातक भी सिद्ध हो सकता है क्योंकि या गर्म तासीर की औषधि है जो मनुष्य के शरीर के अंदर एक प्रकार की भयानक एनर्जी पैदा करता है जिससे मनुष्य जिसके प्रयोग से हमेशा नौजवान और वरिष्ठ बना रहता है दोस्तों ऐसे लोग जो उच्च रक्तचाप से ग्रसित हैं उन्हें तो केसर और अश्वगंधा शिलाजीत लेने में पूर्ण रुप से मनाही होती है यदि इसका प्रयोग करना चाहते हैं तो किसी आयुर्वेदिक डॉक्टर से अवश्य इस बारे में सलाह ले ले दोस्तों शिलाजीत और अश्वगंधा तथा केसर का प्रयोग दूध के साथ हमेशा करना चाहिए यह दिन इसका प्रयोग करते हैं तो आप हमेशा बने रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »