जीवन में सफलता पाने के लिए हमेशा सही दिशा में लगाएं स्वास्तिक का चिन्ह

स्वास्तिक का चिन्ह बहुत शुभ माना जाता है। यदि घर में कोई शुभ कार्य होता है तो इसको सबसे पहले बनाया जाता है। यह सकारात्मक ऊर्जा का प्रतीक माना जाता है। यही कारण है की इसको घर में लगाना बहुत शुभ माना जाता है। देखने में आता है की स्वास्तिक का चिन्ह किसी भी दिशा में बना दिया जाता है। वास्तु शास्त्र के अनुसार स्वास्तिक का चिन्ह यदि आप सही दिशा में बनाते हैं तो ही आपको उसका पूरा लाभ मिल पाता है। अतः स्वास्तिक का चिन्ह बनाने से पहले आपको सही दिशाओं का ज्ञान होना बहुत आवश्यक है। आज हम आपको इस बारे में ही यहां जानकारी दे रहें हैं। आइये अब हम आपको विस्तार से बताते हैं इस बारे में।

इन दिशाओं में बनाएं स्वास्तिक का चिन्ह –

सबसे पहले आपको बता दें की लाल कलर से बना हुआ स्वास्तिक बहुत शुभ माना जाता है। कुछ लोग स्वास्तिक की तस्वीर भी बाजार से लाकर घर में लगा देते हैं। इन दोनों ही प्रकार से लगाए गए स्वास्तिक से आपको सामान लाभ मिलता है। यदि आप चाहते हैं की आपके घर में धन का आवागमन होता रहे। पैसे की कमी न हो तो आप स्वास्तिक को उत्तर दिशा में लगाएं। असल में इस दिशा में भगवान कुबेर का प्रभाव अधिक होता है। इस दिशा में स्वास्तिक बनाने से आपके घर में पैसे की कमी नहीं पड़ती है। यदि आप चाहते हैं की सभी आपका सम्मान करें तथा घर में आपसी प्रेम को बढ़ावा मिले तो आप स्वास्तिक के चिन्ह को पूर्व दिशा में बनाएं। यदि आप स्वास्तिक के चिन्ह को उत्तर पूर्व दिशा में लगाते हैं तो आपका सौभाग्य बढ़ता है तथा दुर्भाग्य दूर होता है।

इन दिशाओं में न लगाएं स्वास्तिक का चिन्ह –
स्वस्तिक का चिन्ह दक्षिण- पश्चिम दिशा में नहीं लगाना चाहिए। इस दिशा में स्वस्तिक का चिन्ह लगाना अशुभ माना जाता है। स्वास्तिक का चिन्ह हमेशा सीधा ही लगाना चाहिए। इसको कभी टेढ़ा नहीं लगाना चाहिए। यदि आप इसको टेढ़ा लगाते हैं तो यह आपको नकारात्मक फल देने लगता है। अतः आप जब कभी भी स्वास्तिक का चिन्ह लगाएं दिशाओं के अनुसार ही लगाएं ताकी आपको उसका सही फल प्राप्त हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »