दो फेरों के बाद वधू पक्ष ने रुकवा दी शादी, बोला- ‘दूल्हा और दुल्हन है भाई बहन’ फिर

माता पिता अपने बच्चों की शादी सोच विचार कर ही तय करते हैं, जिसमें तमाम तरह की छानबीन शामिल होती है। जैसे लड़का या लड़की कितनी पढ़ी हुई, उसका पारिवारिक बैकग्राउंड क्या है और वह क्या काम करता या करती है,

इस प्रकार के आदि छानबीन की जाती है, लेकिन कई बार यह छानबीन भी सही नहीं निकलती है और रिश्ता टूट जाता है। जी हां, शादी विवाह जब तक संपन्न न हो जाए, तब तक उसमें कुछ भी हो सकता है। ऐसा ही कुछ मध्यप्रदेश में हुआ।

मध्यप्रदेश में दो फेरो के बाद शादी को कैंसिल कर दी गई और दूल्हे को बिना दुल्हन के बारात वापस लेकर जाना पड़ा। तो चलिए जानते हैं कि हमारे इस लेख में आपके लिए क्या खास है। मध्यप्रदेश के ग्वालियर के ईसागढ़ के ओड़िला गांव में एक शादी का कार्यक्रम चल रहा था, जिसे परिजनों द्वारा ही मध्य में तोड़ दी गई। शादी की तैयारियां दो महीने से चली और फिर बारात भी आई।

इतना ही नहीं, बारात आने के बाद भी शादी के लिए दूल्हा और दुल्हन मंडप में बैठे, वहां भी तमाम रस्में हुई, लेकिन सात फेरे पूरे नहीं हो पाए और शादी कैंसिल हो गई। शादी कैंसिल होने के पश्चात दूल्हा और दुल्हन का परिवार एक दूसरे पर अलग अलग आरोप लगा रहा है।

कन्या पक्ष के मुताबिक, शादी के लिए मंडप सज गया था, जिसमें दूल्हा और दुल्हन आ भी गए थे। शादी की रस्में शुरु हो गई थी, मगर यह रस्म सिर्फ दो फेरे तक ही हो पाई। दो फेरे के बाद कन्या पक्ष ने शादी रुकवा दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »