सुहागरात के बाद दुल्हन ने अपने पति को बताया नामर्द, फिर उसके बाद जो हुआ

एक ऐसी लड़की का जिक्र कर रहा हूँ जिसने अपने ही पति को कटघरे में खड़ा कर दिया है और कारण बताया है की वो नामर्द है. अब उस व्यक्ति ने कैसे अपनी मर्दानगी का सबूत दिया वो वाकई में काबिले तारीफ़ है.

कहते है की पति और पत्नी का रिश्ता सिर्फ विश्वास पर टिका रहता है, उम्मीदों पर टिका रहता है और जिसका जिक्र सबसे लास्ट में आता है वो है सबन्ध पर टिका रहता है. खैर अगर हम बात करें सबंध की तो आज की दुनिया में रिश्ता टिका रहने का अहम कारण इसे ही माना गया है. पर सच्चाई कुछ और होती है –

खबर के अनुसार रामसंजीवन तिवारी ने अपने बेटे की शादी की, और दहेज़ के रूप में 11 लाख रूपए लिए. 15 लाख की डिमांड करते हुए रामसंजीवन तिवारी को रिश्तेदारों ने समझाया और वो करीब 11 लाख रूपए लेकर अपनेबेटे की शादी की, लड़की विदा होकर घर आई और लड़के के साथ एक रात रही पर सुबह उठते ही उसने लड़के और लड़के के घर वालों पर आरोप लगाया की उनका बेटा नामर्द है. यहाँ तक की लड़की का कहना है की उनका बेटा किन्नर है.

पत्नी का कहना है की उसका पति अभिषेक तिवारी बाप नहीं बन सकता है. ऐसे में लड़की ने बताया की शादी के दुसरे दिन जब ससुराल वालों को इस बात की पुष्टि करवाई तो उन्होंने कहा की रिस्पेशन से पहलेअगर मायके गई तो उनकी बदनामी हो जायेगी और मेरी मिन्नते करके मुझे पहले घर में रोका और उसके बाद मोबाइल छीनकर मुझे मारा-पिटा जैसे तैसे वो वहां से अपने घर आई है और उसने पुलिस को इस बात की जानकारी दी है. पुलिस इस बात की गहराई से जांच कर रही है.

अभिषेक पर जब यह आरोप लगा तो उसने स्थिति से ना भागकर उसका सामना किया और डॉक्टरो से चैकप करवाया. उन्होंने तीन डॉक्टरों से जांच करवाई और रिपोर्ट नार्मल आई. डॉक्टरों के अनुसार अभिषेक बाप बन सकता है और वो किसी भी तरह से नामर्द नहीं है.

अब पुलिस इस बात का पता लगा रही है की आखिर लड़की ने ऐसा क्यों किया और आखिर ऐसा घिनौना आरोप अपने ही पति पर क्यों लगाया.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Translate »
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x