एक ऐसी मंदिर जहां रोज सुबह शाम पूजा करने आते हैं जंगली भालू,वजह जानकर चौंक जाएंगे आप

दोस्तों यह मंदिर छत्तीसगढ़ राज्य के महासमुंद जिले के चंडी मंदिर में रोज सुबह से लेकर रात 8:00 बजे तक एक – एक कर भालू यहां पूजा करने पहुंचते हैं शाम 5:00 बजे से रात 8:00 बजे तक यह भालू अधिकांश देखे जाते हैं। यह भालू सीढ़ियों पर चढ़कर मां चंडी देवी की मूर्ति के पास पहुंचते हैं वहां मूर्ति की प्रक्रिया करते हैं और लोगों द्वारा दिए गए प्रसादी खाते हैं और वापस पहाड़ों से लगे जंगल के गुफाओं में चले जाते हैं।

इस मंदिर को भालूओ का मंदिर के नाम से भी जाना जाता है यहां भालू रोज देवी मां की आरती शुरू होते ही मंदिर में चले आते हैं तथा रोज करते हैं प्रतिमा की परिक्रमा,यहां रोज हजारों लोग या दुर्लभ नजारा देखने आते हैं। मंदिर में भालू के आने की बात प्रदेश में जगह जगह फैल गई इससे मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या में काफी बढ़ोतरी हुई है

स्थानीय लोग के मुताबिक यह मंदिर करीब 150 साल पुराना तथा माता चंडी की प्रतिमा प्राकृतिक बताई जाती है तथा इसकी ऊंचाई साडे 23 फीट ऊंची दक्षिण मुखी है, स्थानीय लोगों की मानें तो यह भालू कभी भी किसी को नुकसान नहीं पहुंचाते मंदिर में हर रोज सैकड़ों भक्त मनोकामना लेकर पहुंचते हैं, जब वह भालू द्वारा माता की भक्ति का यह नजारा देखते हैं तो आश्चर्य में पड़ जाते हैं, तथा श्रद्धालु भालू के साथ खूब सल्फी भी लेते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »