सचिन समेत 3 भारतीय दिग्गजों ने वनडे क्रिकेट के नए नियम और पिचों पर उठाए सवाल ,जानिए आप भी

दिग्गज भारतीय खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर ने एक बार फिर वनडे में मौजूदा नियमों को बदलने की बात पर जोर दिया है। कई लोगों का मानना है कि वनडे में मौजूदा नियम बल्लेबाजों के पक्ष में ज्यादा हैं।

इस समय वनडे में एक पारी दो नई गेंदों से खेली जाती हैं। हर छोर से एक अलग गेंद का उपयोग किया जाता है। हर पारी को तीन पावरप्ले में बांटा जाता है। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आइसीसी) ने मंगलवार को प्रशंसकों को भारत की महान सलामी जोड़ी सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली के बारे में याद दिलाया। इन दोनों ने वनडे में 176 साझेदारियां की हैं।

इस दौरान इन दोनों ने 47.55 की औसत से 8227 रन बनाए। आइसीसी ने इन दोनों के आंकड़े अपने ट्विटर पर डाले और लिखा कि वनडे में किसी और जोड़ी ने 6000 से ज्यादा का आंकड़ा पार नहीं किया है।

सचिन तेंदुलकर ने इस ट्वीट के जवाब में लिखा कि अगर यह दोनों मौजूदा नियमों के साथ खेल रहे होते तो इससे भी ज्यादा रन बनाते। गांगुली ने जवाब दिया कि 4000 और रन।

इसके बाद भारतीय टीम के ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह भी इसमें शामिल हुए और उन्होंने लिखा कि आराम से कुछ और हजार रन बन जाते। कितने खराब नियम हैं. बल्ले और गेंद में सुंतलन बनाए रखने के लिए आइसीसी में गेंदबाजों की जरूत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *