3 रहस्यमयी दरवाजे जिसे कोई नहीं जनता

ताजमहल का ख़ुफ़िया कमरा

1631 में शाहजहाँ ने अपनी पत्नी मुमताज के लिए ताजमहल का निर्माण किया था | इसे दुनिया का सबसे महंगा तोहफा माना जाता है | इस ताजमहल में 1089 कमरे है | जिसमे से 22 कमरे आज भी बंद है | शाहजहाँ अपनी पत्नी से बहुत जी ज्यादा प्यार करते थे | और उनके मरने के बाद भी अपने पास रखना चाहते थे | हमें बताया गया की ताजमहल रानी मुमताज के याद में बनाया गया है |

लोग कहते है की उनके मरने के बाद शाहजहाँ ने रानी मुमताज को मम्मी बनाकर एक सिग्रेट कमरे में रखा था | लेकिन इस्लाम धर्म के खिलाफ सही नहीं था | इस बारे में किसी को पता न चले इसीलिए शाहजहाँ ने इस कमरे को हमेशा के लिए बंद कर दिया | कहा जाता है की शाहजहाँ के क्रूर सैनिको ने लोगो पर बाउट जी ज्यादा अत्याचार किये | लेकिन आज भी माना जाता है की मुमताज का आत्मा मौजूद है| इसलिए आज भी कोई भी इस कमरे को खोल नहीं सका | क्युकी दरवाजो को कभी न खोला जाये यही अच्छा रहेगा |

रूम नंबर 873

कनाडा के होटल ब्रेन स्प्रिंग रूम नंबर 873 को अचानक ही बंद कर दिया गया | आखिर ऐसा क्या हुआ था उस रूम में की उस रूम को हमेशा के लिए बंद कर दिया गया था | बंद नहीं बल्कि इस कमरे को एक दिवार के पीछे छुपाया गया | सालो पहले एक कपल अपनी अपनी छोटी बच्ची और अपनी पत्नी के साथ आया था | ये कपल रूम नंबर 873 रूम नंबर में ठहरा हुआ था |

लेकिन पता नहीं उस आधी रात को क्या हुआ की वो अपनी बीबी और बच्ची को मार डाला | और खुद भी खुदकशी कर ली | उसके बाद आपको बता दे की उस कमरे को फिर से मरमत करके लोगो को दिया | लेकिन ये इतना भी आसान नहीं था | उस कमरे वाले लोगो को अजीब सी आवाजे आने लगी और खून के धब्बे दिवार पर दिखाई देने लगे | इसी कारण से उस होटल के कमरे को हमेशा के लिए एक दिवार के पीछे छुपा दिया गया | की फिर कोई उस दरवाजे को खोल न सके |

पद्मभावस्वामी मंदिर

मदमानभावस्वामी मंदिर भारत के रहस्य्मयी मंदिरो में से एक है | ये मंदिर केरला के तिरुवंतपुरम शहर में है | इस मंदिर को ट्रस्ट द्वारा चलाया जा रहा था | जिसका प्रमुख रावण कोर शाही परिवार था | 2011 में एक मंदिर के भक्त ने गलत मेनेजमेंट की शिकायत की | उसके बाद साथ लोगो को उस मंदिर में चेक करने के लिए भेजा गया | उस मंदिर में से 6 ख़ुफ़िया दरवाजे मिले जो |

जिसमे से पांच दरवाजा खोला गया उस दरवाजे में सोना ,चांदी ,हीरे ,जेवरात निकले | उसके बाद छठे दरवाजे को बहुत ज्यादा खोलने की कोशिश की गई पर ओ दरवाजा नहीं खुला | लोगो का ऐसा कहना था की उस दरवाजे को सिर्फ एक सच्चा साधु ही खोल सकता है इसीलिए अगर इस दरवाजे को खोलने की कोशिश की जाएगी तो दुनिया में क़यामत आ जाएगी | इसीलिए सुप्रीम कोट ने आदेश दिया की उस दरवाजे को हमेशा के लिए बंद कर दिया जाये |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »