हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को बडा झटका, नहीं मिलेगा इस योजना का लाभ

देश में कोरोना संकट के बीच राज्यों की आर्थिक स्थिति बेहद खस्ता हो गई है। कई राज्यों में तो अपने कर्मचारियों को सैलरी देने तक के पैसे नहीं है। इस बीच हरियाणा की खट्टर सरकार ने आर्थिक तंगी से निपटने के लिए राज्य के कर्मचारियों और पेंशनर्स को झटका दिया है। सरकार ने उनका महंगाई भत्ता (Dearness Allowance) वर्तमान स्थिति पर जुलाई 2021 तक के लिए फ्रीज कर दिया है। इसके साथ ही सरकार ने तय किया है कि जुलाई 2020 और जनवरी 2021 में लगने वाला DA और Dearness Relief Instalments भी नहीं दी जाएंगी।

वित्त विभाग ने दिया ये बयान

हरियाणा के वित्त विभाग की ओर से जारी किए गए बयान में कहा गया है कि ‘कोरोना संकट को देखते हुए यह तय किया गया है कि हरियाणा सरकार द्वारा कर्मचारियों को दी जाने वाली महंगाई भत्ते की अतिरिक्त किश्त और पेंशनर्स को दी जाने वाली महंगाई राहत, जो 1 जनवरी 2020 से बकाया है उसका भुगतान नहीं किया जाएगा।’

हालांकि, सरकार ने साफ किया है कि कर्मचारियों को वर्तमान में 17 प्रतिशत की दर से दिए जा रहे DA में किसी तरह का बदलाव नहीं किया जाएगा। बता दें कि राज्य में वर्तमान में 3.5 लाख से ज्यादा सरकारी कर्मचारी हैं, उन पर सरकार के इस फैसले का सीधा असर पड़ेगा।

कोरोना संकट के बीच देश के कई राज्यों में सरकारी कर्मचारियों की सैलरी भी काटी गई। वहीं कुछ राज्यों में तो पेंशनर्स की राशि में भी कटौती की गई। सबसे पहले तेलंगाना सरकार द्वारा सैलरी कम करने का निर्णय लिया गया था। इसके बाद महाराष्ट्र, फिर पंजाब सहित कई अन्य राज्यों ने भी सैलरी में कटौती का कदम उठाया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »