स्मार्टफोन हमेशा आयताकार क्यों होते हैं? जानिए

आज आपको ऐसे फ़ोनों के बारे मे पता चलेगा जो काफी अजीब अकार में लांच हुए थे। और साथ में ये भी पता चलेगा की, हमेशा एक स्मार्ट्फ़ोन का अकार हमेशा आयात कार ही क्यूँ होता है ?

  1. नोकिया प्रिज्म (Nokia prism )

नोकिया ने एक ऐसा स्मार्ट्फ़ोन बनाने की सोची, जो बाकियों से अलग हो , अनोखा हो ।

2016 में जब नोकिया अपने आपको दुबारा बाजार में लाने की तय्यारी कर रहा था तो उसने इस फ़ोन की अफवाह उड़ाई ।

हालाँकि लोगों ने इस फ़ोन के लांच होने से पहले ही इस के डिजाईंन को नकार दिया।

2. मोटोरोला फ्लिप आउट ।

15 जून 2010 को मोटोरोला का यह फ़ोन लाँच हुआ। इसकी कीमत करीब 17000 रूपये की थी ।

एवं यह एंड्रॉइड 2.1 पे चलता था ।

इसमे 512 MB रोम थी एवं 512 MB रैम भी थी।

3.1 MP का कैमरा भी था । इस फोन में सॉफ्टवेयर ज्यादा अच्छा नहीं था एवं नोकिया से इसे बहुत ज्यादा प्रतिस्पर्धा मिली जिससे यह चलन से बाहर हो गया ।

इसके अलावा ऐसे बहुत से फ़ोन लाँच हुए जो अपने आकार के अनुरूप काफी अजीब थे जैसे ।

लेकिन लोगों ने इन्हे सुविधाजनक नहीं माना और कम्पनियाँ भी ऐसे फ़ोन पे अपना वक्त बर्बाद नहीं करना चाह्ती थी।

आज के जामाने में लोगों की डिमांड प्रदर्शन की रहती है। इसलिए सॉफ्टवेयर पे ज्यादा ध्यान दिया जाता है और एक ही आकार के फोन बनाये जाते है ।

कोई नया फोन लाँच होता है तो उसमे बहुत मामूली से अपग्रेड कैमरा के मेगापिक्सल वगैरह में होते है ।लेकिन सॉफ्टवेयर में काफी चीज़ें जोड़ने की कोशिश की जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Do NOT follow this link or you will be banned from the site!
Translate »