सिरदर्द, माइग्रेन और पेट के संक्रमण से राहत पाने के लिए करे इस औषधी का सेवन

अतिबला एक औषधीय पौधा होता है इस पौधे में सभी अंगों की छाल, पत्ती, फूल, जड़ आदि कई प्रकार के गुण होते हैं। इसका वानस्पतिक नाम अबूटिलोन इंडिकम है। जिसे अक्सर खेतों में खरपतवार के रूप में देखा जाता है। इसके बीज, छाल का उपयोग बुखार को दूर करने के लिए किया जाता है।

पेट की जलन से राहत पाने के लिए भी इसका उपयोग किया जाता है। इसके बीजों से तेल निकलता है, जिसका उपयोग कई तरह के रोगो को दूर करने के लिए किया जाता है।

इस पौधे के फूल, पत्ते, छाल और जङ को सूखाने के बाद पाउडर बनाकर फिर एक चम्मच शहद के साथ सेवन करने से शरीर को ऊर्जा मिलती है और कमजोरी, थकान दूर होती है।

अगर इसके पत्तों का सेवन किया जाए तो यह सिरदर्द, माइग्रेन के दर्द और पेट के संक्रमण में राहत देता है। मुंह के छालों पर पत्तियों का रस लगाने से आराम मिलता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »