सावधान क्रेडिट कार्ड आपको कंगाल बना सकता है,जानिए कैसे

आज का समय उधारी का युग है क्योंकि लोगों की मानसिकता इस प्रकार बन गई है उनके पास पैसे हो या न हो पर उन्हें अपने आराम और सुख सुविधाएं की वस्तुएं आज ही चाहिए उन की इसी सोच को पूरा करता है क्रेडिट कार्ड.

क्रेडिट कार्ड के माध्यम से आप उधार में चीजें खरीदने केआदी हो जाते हैं और अपनी कमाई से ज्यादा आप चीजों कोखरीदने लगता है क्योंकि क्रेडिट कार्ड आप को उधारी में आज खरीदने की आजादी देता है उसका बिल 30 से 45 दिन बाद भरना—– होता है.

उदाहरण के लिए आपकी मासिक आमदनी 20000 है तोआप को 100000 तक की खरीदारी उधारी में क्रेडिट कार्ड से कर– सकते हैं बस यही से परेशानी चालू हो जाती है जब आप नगद- खरीदते हैं तब आप कम से कम पैसों में अच्छी चीज खरीदना- चाहते हैं परंतु क्रेडिट कार्ड के द्वारा जरूरत से ज्यादा महंगा—-सामान खरीदने लगते हैं.

व्यक्ति को अपने खर्चे अपनी सैलरी के हिसाब से बांटनाचाहिए क्योंकि आप को अपनी सैलरी मैं पूरे महीने के खर्चों को और– बचत को संभाल ना होता है परंतु क्रेडिट कार्ड से उधारी मेंजरू रत से ज्यादा खरीदारी के कारण आपका महीने का क्रेडिट—– कार्ड का बिल कभी-कभी सैलरी से भी ज्यादा हो जाता है.

उस के बाद क्रेडिट कार्ड वाले आपको महीने की किस्त सुविधा दे देते हैं जिसका ब्याज लगभग 36 परसेंट तक जाता हैमतलब की साल भर में आप ₹100000 के ₹136000 भरते हैंक्रेडिट कार्ड का ब्याज दर सबसे अधिक होता है इसप्रकार आपसमझ सकते हैं आप कार्ड में फसते जाते हो.

नगद में खरीदने पर व्यक्ति अपनी जरूरत से ज्यादा खर्च नहींं– करता वहीं पर उधार में व्यक्ति जरू रत से ज्यादा खर्च कर ने— लगता है इसी मानसिकता के कारण क्रेडिट कार्ड के बिल केेेे—कारण लोग बर्बाद हो जाते हैं और अंतमें जाकर उनकोआर्थिक और मानसिक परेशानियां होने लगती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »