वो कौन लोग हैं, जिनकी डेडबॉडी सालों बाद भी नहीं सड़ी-गली,जानिए इनके बारे में

मौत होने के कुछ देर बाद ही उसकी डेडबॉडी खराब होने लगती है। इसलिए बॉडी को दफना या जला दिया जाता है, लेकिन दुनिया में कुछ ऐसी डेडबॉडीज भी हैं जो सदियों से सुरक्षित हैं। उनमें से कुछ को तो सुरक्षित करने के लिए उपाय किए गए हैं तो कुछ बिना किसी उपाय के ही सुरक्षित हैं।

आप को दुनिया की ऐसी ही डेड बॉडीज के बारे में बताते हैं।व्लादिमीर लेनिन: सोवियत संघ के नेता व्लादीमीर लेनिन की मौत 1924 में हुई थी। सोवियत सरकार आने वाली पीढ़ी को प्रेरित करने के लिए उनकी बॉडी को सुरक्षित रखना चाहता थी। सुरक्षित रखने के लिए बॉडी को केमिकल से नहलाया जाता है और इंजेक्शन लगाए जाते हैं। आज भी लेनिन की बॉडी ऐसे लगती है, जैसे वह जीवित हों।

संत फ्रांसिस जेवियर: भारत में ओल्ड गोवा के ‘बेसिलिका ऑव बोम जीसस’ में रखा हुआ, संत फ्रांसिस जेवियर का मृत शरीर आज भी सामान्य अवस्था में रखा है। यह जानकर आप आश्चर्यचकित रह जाएंगे कि यह शव विगत 460 वर्षों से बिना किसी लेप या मसाले के आज भी एकदम तरोताजा है।रोसालिआ लोम्बार्डो: सिसली की राजधानी पालेर्मो में दो साल की बच्ची रोसालिआ लोम्बार्डो की डेड बॉडी रखी हुई है, जिसकी मौत 1920 में हुई थी।

पिता ने एक्सपर्ट से अपनी बेटी की बॉडी को सुरक्षित करवाया। एक्सपर्ट ने बॉडी को सुरक्षित रखने के लिए एल्कोहल, सैलीसाइलिक एसिड और ग्लिसरीन के मिश्रण से ऐसा केमिकल तैयार किया, जिससे यह बॉडी आज भी सुरक्षित रखी हुई है।जॉन टोरिंगटन: 1846 में अंग्रेज ऑफिसर जॉन टोरिंगटन नॉर्थवेस्ट पैसेज की खोज के अभियान में लगे थे। इस दौरान उनकी मौत हो गई।

उस समय उनकी उम्र 22 साल की थी। मौत के बाद उनकी इस बॉडी को कनाडा में आर्कटिक के बैरन टुंड्रा में दफना दिया गया था। 1984 में टोरिंगटन की कब्र को शिफ्ट करने के लिए खोदा गया तो सभी लोग हैरान रह गए। टोरिंगटन की डेड बॉडी जैसी रखी गई वैसी ही अभी भी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »