राजू अपने पापा से बोला घड़ी का ड्राइवर मर गया इस लिए बंध हो गयी

1)राजू की मनपसंद घड़ी बंध पड़ गयी थी । वह बहोत निराश हो गया। बाद में राजू ने अपनी घड़ी को खोला तो उसने देखा कि घड़ी के अंदर मरा हुआ एक छोटा सा मच्छर था । यह देखकर वह दौड़ता हुआ अपने पापा के पास गया और बोला ।

राजू: पापा, मेरी घड़ी बंध पड़ने का कारण मुझे मिल गया ।

पापा: क्या है कारण बता? क्यो बंध पड़ गयी तेरी घड़ी?

राजू: पापा, देखो ना इसमे मच्छर मर गया है । इसका ड्राइवर ही मर गया है तो भला यह घडि कैसे चलेगी ।सही है न पापा !

2)रामलाल का बेटा एक लीटर पेट्रोल पी गया ।

रामलाल उसके बेटे को बोला।

,’ क्यो किया ऐसा मेरे बेटे? पेट्रोल क्यो पिया तूने ?’

बेटा: पापा, मेरे टीचर बोल रहे थे कि मेरा एवरेज अच्छा नही है इस लिए मेने अपनी एवरेज अच्छी करने के लिए पेट्रोल पी लिया ।

3)पप्पू: सर जी, मुझे ज़ीरो मार्क नही मिलने चाहिए ।यह बहोत बुरा है ।

पप्पू के टीचर: सही बात है पप्पू, तुजे 0 मार्क तो बिल्कुल नही मिलने चाहिए मुझे लगता है कि 0 से भी कम मार्क की शोध जरूर करनी पड़ेगी, तेरे लिए ।

4)टीचर अपने बच्चों को पढ़ा रहे थे । टीचर ने ज्ञान देते हुए कहाँ।

टीचर: किसी महापुरुष ने कहा है कि बड़ी शिद्धत से मांगी हुई चीज हमे जरूर मिलती है । अगर आप मे वह पाने की दिल से इच्छा हो तो उसको मिलाने में पूरी की पूरी कायनात आपको मदद करती है ।

राजू: गलत, गलत, पूरा गलत बोल रहे हो साहब जी।

टीचर: क्या हुआ राजू?

राजू: टीचर जी, अगर ऐसा होता तो आज यह स्कूल ना होती, आप भी मर गए होते,एक्ज़ाम की समस्या खत्म हो जाती और वह प्रिंसिपल तो कुत्ते की मौत मारा जाता ।

5)मरीज़: डॉक्टर साहब मुझे यह लग रहा है कि में भगवान हु, तो आप इसका इलाज कर दीजिए।

डॉक्टर: भाई, तो कब से आपको ऐसा लग रहा है ?

मरिज़: जब से मैने इस पूरे ब्रह्मांड की रचना की है तब से ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Do NOT follow this link or you will be banned from the site!
Translate »