ये हैं भारत की 3 ऐसी जगह जहाँ इंसानो को जाना मना है, कभी भूल से भी मत जाना यहाँ

निकोबार द्वीप:

निकोबार के खूबसूरत द्वीप और उनकी खूबसूरती जानते है आज भी ऐसे क्यों बने हुए है? क्यों की इस स्वर्ग मे इंसानो का प्रवेश करना मना है। जी हॉ दोस्तो, अगर हम इंसानो यहाँ जाने की आज़ादी दे दी जाती तो हम शायद इसे बर्बाद कर देते। निकोबार के घने जंगल और मन को मोह लेने वाले बीच बाहरी दुनिया से बिल्कुल पूरी तरह अछूत है। युनेस्का ने इसे बायोस्फीयर रिजर्व घोषित कर दिया है। और यहां जाने के लिए आपको ढेर सारी परमिशन लेनी होती है। कुछ इलाके तो ऐसे है जहां आप कभी नही पहुंच सकते। हॉ अगर आप कोई वैज्ञानिक है और वहां कोई रिसर्च के लिए जाना चाहते है तो आपको इजाजत मिल सकती है।

2) मुकेश मिल:

मुम्बई के कोलाबा मे स्थित ये भूतिया मिल आज वीरान पड़ी हुई है। सन 1982 मे यहाँ एक भीषण आग लग गयी थी और उसके बाद इस मिल को बंद कर दिया गया। आग लगने का कारण क्या था ये आज भी एक रहस्य बना हुआ है। कुछ सालो पहले एक फिल्म के डिरेक्टर यहां एक फिल्म की शूटिंग करने पहुंचे तो उन्होंने सारी भुतहा घटनाओ का अनुभव किया। डरावनी आवाज़ें पैरो के अजीब निशान और भूतों को देखने का दावा भी किया गया। कुछ लोग कहते है की इस फिल्म की हीरोइन को भी किसी प्रेत आत्मा ने अपने वाश मे कर लिया था। और उस प्रेत आत्मा की डरावनी आवाज़ मे सभी लोगों को वहाँ से निकलने का आदेश दिया गया था। तब से कोई भी वहाँ जाने की हिम्मत नही करता।

3) सेंटिनल आइलैंड:

अंडमान और निकोबार द्वीप के नॉर्थ सेंटिनल द्वीप पर एक आदिवासी जनजाति निवास करती है जिन्हें सेन्तिनालिज कहा जाता है। ये लोग आधुनिकता से पूरी तरह कटे हुए है। उन्हें बाहरी लोगों का अपने द्वीप मे घूमना बिल्कुल भी गवारा नही। हम भारतीयों के लिए अतिथि देव भव हो सकता है लेकिन सेंटिनल आइलैंड के लोगों के लिए ये कोई दुश्मन से कम नही। यहाँ पर आम आदमी का पहुंचना तो दूर सेना के जवानों का भी पहुंचना नामुमकिन सा है। इसीलिये भारत सरकार ने इस द्वीप मे किसी भी व्यक्ति के प्रवेश पर पूरी तरह बैन लगा दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »