यह बातें प्रत्येक बैंक खाताधारक को क्या पता होना चाहिए?

प्रत्येक बैंक खाताधारक को यह पता होना चाहिए कि यदि वो पड़ा लिखा है तो उसे लाइन में लगने की जरूरत नहीं मतलब यह की:

पासबुक में एंट्री कराने के लिए लाइन में खड़े होने की जरूरत नहीं क्यूंकि मै इतना पड़ा लिखा हूं की आज मेरे पास टच स्क्रीन वाला मोबाइल है तो में इसी बैंक कि साइट से mpassbook यानि कि मोबाइल पासबुक डाउनलोड करूंगा और कभी भी रात के दो बजे भी अपने खाते की जानकारी ले सकता हूं, साथ ही साथ यदि किसी लोन के लिए अप्लाई करना हो तो अपना स्टेटमेंट डाउनलोड भी कर सकता हूं और प्रिंट निकाल कर जमा कर सकता हूं।
(बेकार में असली पासबुक के कागज क्यूं वेस्ट करना जो की हम मोबाइल पर ही देख सकते हैं)

  1. एटीएम कार्ड के लिए भले ही एक बार लाइन में लगना पड़े लेकिन जब आप अपना खाते खुलवाते है तभी ही एटीएम कार्ड क लिए अप्लाई कर दे ताकि ना लाइन में लगना पड़े और तुरंत हाथ में मिल जाय।
  2. एक बार एटीएम हाथ में मिल जाए तो बस समझो सारी दुनिया मुट्ठी में,

यानि कि चाहे ट्रेन का टिकिट रिजर्व करवाना हो या
अनारक्षित ट्रेन के डिब्बे का टिकट लेना हो या
हवाई जहाज का टिकट लेना हो या
खाना ऑनलाइन बुक करना हो या
मूवी शो ऑनलाइन बुक करना हो या
किसी दूसरे अलग बैंक के खाते में पैसे भेजने हो या
स्कूल फीस भरने हो इत्यादि
सब आजकल एटीएम कार्ड द्वारा बैंक के एप द्वारा एवम अन्य एप जैसे कि गूगल पे द्वारा संभव है, जिसमें कई बार कैशबैक भी मिलता है, जो सामान्य बचत खाते के साधारण ब्याज से काफी बेहतर और ज्यादा रहता है।

  1. साथ ही साथ अपने खाते में या तो ३३०₹ का बीमा करवालों जो की हमेशा इतना पैसा आपके खाते में रहना ही चाहिए, इससे यह होगा कि यदि भगवान ने भी आपको बुला लिया तो भी आपको बीमा मिलेगा, (सिर्फ 330 ₹ वाले का बीमा मिलेगा)

साथ ही साथ खाते में एक बीमा और करवालो 12 ₹ का (यह मोटर दुर्घटना बीमा है) इतना पैसा भी खाते में बने रहना चाहिए।

दोनों बीमा का जोड़ कुल 342 ₹ हुआ लेकिन कुछ जीएसटी भी कटेगा तो इसलिए पूरे 350 या 360 डाल कर रखो।

  1. अब यदि आप एटीएम से पैसे निकालते है, और किसी कारण वश आपकी मोटर दुर्घटना होती है तो ही आपको एटीएम कार्ड पर बीमा मिलेगा।

ध्यान रखे की आपको मृत्यु पश्चात एक महीने के अंदर क्लेम करना है, नहीं तो आप अपने बीमा से भी वंचित हो जाएंगे।

और यह भी ध्यान रहे मरने के एक महीने पहले भी पैसे निकालने हैं, वैसे समय 45 से 90 दिन के अंतराल का होता

लेकिन कौन याद रखे 45, 90 इसलिए हर महीने पैसे निकाले (मेरी राय)

यानि कि जनधन खाते के एटीएम पर एक लाख का बीमा,
सामान्य बचत खाते के एटीएम पर दो लाख का बीमा और
सामान्य खाते में ही प्लैटिनम एटीएम कार्ड लेने पर पांच लाख तक का बीमा मिल सकता है।
क्लेम के लिए खाताधारक का जहां खाता है वहां आवेदन करना होता है। एक महीने के अंदर बीमा की रकम परिवार को मिल जाती है।

आमतौर पर देखा गया है कि जिन ग्राहकों को खाता बन्द करना होता है, वो तो बन्द करके चले जाते है, लेकिन जो मर चुके होते हैं, और उनका कोई दूसरा रिश्तेदार बन्द करने आता है तो उसे यह बताया नहीं जाता कि इनके खाते में एटीएम था, और उसका खाता बन्द कर दिया जाता है।

(तो यदि इन्होंने मरने के ठीक पहले यानि की 90 दिन के अंदर पैसा निकाला हो तो आपको क्लेम मिल सकता है, और यदि बैंक अधिकारी अच्छा हुआ तो वो आपकी पूरी मदद भी करेगा, क्लेम राशि दिलाने में)

लेकिन आपको एक महीने के अंदर बीमा की रकम के लिए क्लेम करना होगा।

  1. साथ ही साथ अपना खुद का पीपीएफ खाता (PPF ACCOUNT) जरूर खुलवाले ताकि जो बचत आप अपने बचत खाते में कर रहे है वो आप 15 साल बाद भी नहीं कर पाएंगे।

पीपीएफ खाता:

कम से कम 500 रुपए और सर्वाधिक एक लाख पचास हजार रुपए हर साल जमा कर सकते हैं
15 साल तक पैसा जमा रखना पड़ेगा,
ब्याजदर हर साल बदलती रहती हैं,
ब्याज दर बैंक के एफडी से हमेशा ज्यादा रहती हैं,
कोई टैक्स नहीं लगता है,
मान लीजिए आपने जमा किया हर साल पांच हजार रुपए तो 15 साल के हिसाब से आपको मिलेगा मान लीजिए 8 प्रतिशत ब्याज पर कुल मिलाकर 1,46,000/- मिलेगा, जिसमें आपने केवल 75,000/- ही जमा किए हैं और आपको थोड़ा डबल से कम मिलेगा लेकिन मिलेगा जरूर।
हर साल जमा किया = 5,000/- ||| 1,50,000/-

ब्याज = 8 % ||| 8%

कितना जमा = 5,000*15=75,000 (आपके द्वारा जमा किया)

=1,50,000*15=21,48,622/- (आपके द्वारा जमा किया)

मिला कितना = 1,46,600/- ||| 43,98,642/-

  1. #1#अब बात करते है फ्री के दो लाख पाने कि जिसकी जरूर से पढ़ें और अपने दादा दादी नाना नानी के खाते में जरूर से बीमा कराएं:

जी अपने खाते में या किसी के भी खाते में 12 रुपए वाला बीमा करा दीजिए, जिसका नाम है प्रधान मंत्री सुरक्षा बीमा योजना, PMSBY

यह योजना 18 से 70 वर्ष के आयु वर्ग के लोगों के लिए है। मतलब जो व्यक्ति महिला पुरुष कोई भी हो इस बीमा को लेने के लिए उसकी उम्र 18 से 70 वर्ष के बीच में होनी चाहिए।
यह किसी भी बैंक खाते के साथ उपलब्ध है जिसके साथ आधार कार्ड लिंक या जुड़ा हुआ होना बहुत ही आवश्यक है।
यह वार्षिक नवीनीकरण के आधार पर 1 जून से 31 मई तक कवरेज अवधि के लिए 31 मई को या इससे पहले ऑटो-डेबिट या स्वतः आपके खाते से उक्त राशि कट जाएगी।
आधार, बैंक खाते के लिए प्राथमिक केवाईसी होगा।
दुर्घटना मृत्यु और पूर्ण विकलांगता पर 2 लाख रु तक का बीमा और आंशिक विकलांगता के लिए 1 लाख रु तक बीमा मिलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »