मोबाइल पर मिलेगा बिजली गिरने की अलर्ट,जानिए कैसे

बिजली गिरने की घटनाओं से काफी जनहानि हो रही है। इसे लेकर योगी सरकार ने काम करना शुरू कर दिया है। ऐसी योजना बन रही है कि आने वाले समय में लोगों के मोबाइल स्क्रीन पर नाउ कास्ट के माध्यम से इस बारे में अलर्ट आए। राहत विभाग ने बिजली गिरने से होने वाली दुर्घटनाओं को रोकने के लिए ‘भविष्यवाणी’ (फोरकास्ट) और तात्कालिक चेतावनी (नाउ कास्ट) सिस्टम शुरू करने की योजना पर काम शुरू कर दिया है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) से तालमेल करके इस पर काम जारी है। इसे जल्द से प्रदेश स्तर पर लागू किया जाएगा।

राहत आयुक्त संजय गोयल ने आईएएनएस को बताया कि “प्रदेश में बिजली गिरने से बड़ी संख्या में जनहानि होती है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पिछले दिनों प्राकृतिक आपदाओं से जनहानि पर चिंता जताई थी और बिजली गिरने से हो रही मौतें को रोकने के लिए जरूरी कदम उठाने का निर्देश दिया था। तभी से हमने इस कार्य में प्रयास शुरू किये हैं।”

उन्होंने बताया, “आईएमडी तीन-चार दिन पहले भविष्यवाणी कर देता है कि किन-किन क्षेत्रों में बिजली गिरने की संभावना है।”

इसी तरह दो-तीन घंटे पहले और भी सटीक चेतावनी दे देता है। यह जानकारी संबंधित क्षेत्रों के लोगों को समय से पहुंचाने के लिए आईएमडी की वेबसाइट से राहत की वेबसाइट को जोड़ा जा रहा है। राहत की वेबसाइट पर अलर्ट आते ही चंद मिनटों में प्रदेश के संबंधित क्षेत्र के लोगों के मोबाइल पर वेब आधारित चेतावनी मैसेज चला जाएगा। इससे लोग सवाधान हो जाएंगे।

संजय गोयल ने बताया कि यह मैसेज गांव स्तर पर प्रधान, ग्राम पंचायत सचिव, लेखपाल, आशा व आगंनबाड़ी कार्यकर्ता, स्वयं सहायता समूह, एनजीओ व सामाजिक कार्य से जुड़े प्रमुख लोगों के मोबाइल पर भेजा जाएगा। यह लोग अपने ग्रुपों के माध्यम से इसे आगे प्रसारित करेंगे। जैसे-जैसे नंबर मिलते जाएंगे, मैसेज उतने ही अधिक लोगों तक भेजने का प्रयास होगा। ये दूसरों तक सूचना पहुंचाने में सहयोग करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »