मोदी सरकार ने गरीब रेहड़ी पटरी वालों को दी खुशखबरी

प्रधानमंत्री स्वनिधि पोर्टल पर 2 जुलाई, 2020 को ऑनलाइन
आवेदन जमा करने की शुरूआत के बाद से 7.15 लाख से अधिक
आवेदन प्राप्त हुए हैं. साथ ही विभिन्न राज्यों और संघ शासित प्रदेशों
में 1.70 लाख से अधिक को मंजूरी दी गई है.

प्रधानमंत्री स्वनिधि की
शुरूआत रेहड़ी-पटरी वालों को सस्ती कार्यशील पूंजी ऋण प्रदान
करने के लिए मंत्रालय द्वारा 1 जून, 2020 को की गई थी ताकि वे
अपनी आजीविका फिर से शुरू कर सकें. कोविड-19 लॉकडाउन के
कारण इनकी आजीविका प्रतिकूल रूप से प्रभावित हुई।

इस योजना
से उन 50 लाख से अधिक रेहड़ी-पटरी वालों को लाभ मिलेगा जो
24 मार्च, 2020 को या उससे पहले परिनगरीय (पेरी-अरबन)
ग्रामीण इलाकों सहित शहरी इलाकों में माल बेच रहे थे.

आपको बता दें कि इस योजना के तहत एक रेहड़ी पटरी वालों को ₹10000 तक का लोन दिया जाता है जो उन्हें 1 वर्ष के अंदर चुकाना होता है जो व्यक्ति एक वर्ष के अंदर से चूका देगा उन्हें तिमाही आधार पर ड्राफ्ट बेनिफिट ट्रांसफर के जरिए उनके खाते में 7% की ब्याज सब्सिडी जमा की जाएगी जल्दी जमा करने पर कोई भी अधिक जुर्माना नहीं लगेगा यह योजना प्रति माह ₹100 कैशबैक के रूप में दी जाएगी जिससे कि लोगों के मन में उत्साह बड़े और वह अपने लोन को जल्दी से जल्दी झुका सके और डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा मिल सके

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *