मुगलकालिन शासक अपनी बेगम के साथ हर वक्त हिजड़ा (transgender) क्यों रखते थे? जानिए वजह

आज के समय में किन्नरों को लोग समाज का हिस्सा मानने से कतराते हैं क्योंकि वह सभी से बहुत अलग होते हैं. अब अगर बात की जाए राजा-महाराजाओं के जमाने की, तो उस वक्त किन्नरों को महलों में रखा जाता था. इसके पीछे भी एक बहुत ही दिलचस्प कारण था.

अब आप सोच रहे होंगे कि ऐसा क्या था जो राजा किन्नरों को महल में रखते थे, तो अब ज्यादा दिमाग ना लगाइए हम बताते है कि ऐसा क्यों था. दरअसल किन्नरों को महल में रखने का कार्य मुगल राज्य में होता था. मुगलों के राज्य में किन्नरों को महल के अंदर रखा जाता था.

भारत के इतिहास में कई मुगल शासक हुए हैं और सबसे ख़ास मुग़ल शासक की बात की जाए तो वह अकबर को माना जाता है. अकबर ने भी अपने राज्य में किनारों को जगह दी थीं वह उन्हें महल में रखते थे लेकिन इसके पीछे भी एक कारण था.

कहा जाता है कि मुग़ल शासक कभी भी अपनी पत्नियों पर विशवास नहीं करते थे, उन्हें लगता था कि अगर कोई गैर मर्द महल में आया तो उनकी पति उससे संबंध बना लेंगी. राजा अपने इस डर को दूर रखने के लिए पत्नियों के साथ किन्नरों को रखते थे जो राजा को उनकी पत्नी के पल-पल की खबर देते रहते थे.

किन्नरों को राजा के दरबार से लेकर महल तक का ख़ास अंग माना जाता था. कहते है कि अकबर ने अपनी बेटियों को जिंदगी भर कुंवारा रखा था और वह केवल इस वजह से कि लड़की की शादी के लिए उन्हें झुकना पड़ता जो उन्हें पसंद नहीं था. अपनी बेटियों के लिए भी उस समय राजा महल में किन्नर रखते थे ताकि उनकी बेटियां किसी मर्द को देखकर उनकी तरफ आकर्षित न हो.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Do NOT follow this link or you will be banned from the site!
Translate »