मर्दों के मुकाबले औरतों पर जल्दी हमला करती हैं ये बीमारियां,जानिए

अक्सर ऐसा कहा जाता है कि मर्दों के मुकाबले महिलाओं को ज्यादा जकड़ती हैं बीमारियां। पूरी दुनिया में ऐसी कई बीमारियां हैं जिससे हर साल लाखों-करोड़ों लोग अपनी जान से हाथ धो बैठते हैं, जिसमें किडनी{गुर्दा} संबधित रोग बहुत आम है और यह किडनी रोग महिलाओं में मृत्यु का आंठवा सबसे बड़ा कारण है। इसमें किडनी फेलियर से मौत की संभावना सबसे ज्यादा होती है। क्रॉनिक किडनी डिसीज जिसे (सीकेडी) भी कहते हैं पुरूषों के मुकाबले महिलाओं को 5 फीसदी ज्यादा तेजी से जकड़ती है।

क्रॉनिक किडनी डिसीज (सीकेडी) से हो सकती हैं यह परेशानियां:

  1. किडनी से संबंधित परेशानियां होने से महिलाओं में प्रजनन क्षमता कम हो जाती है।
  2. मां व बच्चे दोनों के लिए खतरा बढ़ जाता है।
  3. हाइपर टेंसिव डिसआर्डर्स का खतरा रहता है।
  4. समयपूर्व प्रसव आशंका बढ़ना आदि।

किडनी से जुड़े रोगों के कारण:

  1. डायबिटीज
  2. उच्च रक्तदाब
  3. मेटाबॉलिक डिसआर्डर
  4. एनाटॉमिक डिसआर्डर आदि।

किडनी रोगों के कारण अलग होने कि वजह से उनके रोगियों में भी अलग-अलग तरह के लक्षण पाए जाते हैं। पेशाब बहुत कम आना या पेशाब बहुत ज्यादा आना रसायनों की मात्रा आसामान्य हो जाना और पेशाब में खून आना इसके कुछ सामान्य लक्षणों में से हैं। यह बीमारियां मां बाप द्वारा उनके बच्चों में भी आ जाती है।

अगर डायग्नोसिस कराना चाहते हैं:

यदि आप डायग्नोसिस कराना चाहते है तो पेशाब का नमूना लें और इसमें प्रोटीन, शूगर, रक्त और कीटोंस आदि की जांच कराएं क्योकि डॉक्टरों के लिए केवल किडनियों को छूकर चेक करना और सही जानकारी देना कठिन हो जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »