भारत में बनी पहली कोरोना वैक्सीन, प्री- क्लीनिकल ट्रायल में रही सफल, ह्यूमन ट्रायल की मंजूरी भी मिली

कोरोना संकट के बीच भारत के लिए बड़ी राहत वाली खबर है। देश में कोरोना की पहली वैक्सीन कोवैक्सीन को हैदराबाद की फार्मा कंपनी भारत बायोटेक ने तैयार कर लिया है। इसे इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी, पुणे के साथ मिलकर बनाया गया है।

ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने ‘कोवैक्सीन’ के ह्यूमन ट्रायल को मंजूरी दे दी है। इसके प्री-क्लीनिकल ट्रायल कामयाब रहे थे। इसके बाद इंसानों पर ट्रायल को मंजूरी दी गई है। यह ट्रायल जुलाई में शुरू होंगे।

जानकारी के मुताबिक इस वैक्सीन को हैदराबाद के जीनोम वैली के बीएसएल-3 (बायो-सेफ्टी लेवल 3) हाई कंटेनमेंट फैसिलिटी में तैयार किया गया है। ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया, सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन (सीडीएससीओ) और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने पहले और दूसरे चरण का ह्यूमन ट्रायल शुरू करने की मंजूरी दे दी है।

भारत बायोटेक के मुताबिक, प्री-क्लीनिकल ट्रायल में वैक्सीन के नतीजे बेहतर मिले हैं। यह काफी सुरक्षित है। इम्यून रेस्पॉन्स को तेज करती है। बता दें कि भारत बायोटेक के अलावा देश की पांच और फार्मा कंपनियां वैक्सीन तैयार करने में लगी हैं।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Translate »
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x