भारतीय सेना को दुनिया की सर्वश्रेष्ठ सेना क्यों कहा जाता है?

भारतीय सेना आज दुनिया की तीसरी सबसे शक्तिशाली सेना है इसको सर्वेश्रेष्ठ कहने के कई कारण है जिसमे से कुछ कारन में आपको बता रहा हूँ-

इंडियन आर्मी दुनिया की चाइना के बाद सबसे बड़ी स्वैच्छिक सेना है। भारत के पास सेना में सक्रिय सैनिकों की संख्या 14,55,550 और रिज़र्व सैनिकों की संख्या 11,55,000 जो दुनियाभर में सबसे अधिक में से है।
इंडियन आर्मी विश्व की सबसे ऊंचाई पर स्थित सियाचिन में लड़ने का अनुभव रखती है जो किसी भी देश यथा- अमेरिका और चाइना के पास भी नही है।
भारतीय सेना ने प्रथम और द्वितीय विश्वयुद्ध में भाग लेकर ब्रिटैन की जित में अहम् योगदान दिया था। ब्रिटिश भारतीय थलसेना के पूर्व कमांडर-इन-चीफ फील्ड मार्शल क्लाउड ऑचिनलेक ने कहा था कि भारतीय सेना के बिना दोनों विश्वयुद्धों में ब्रिटेन को सफलता नहीं मिल सकती थी।
शानदार नेतृत्व, कार्रवाई की आजादी और मूल्यों से कभी समझौता न करना भारतीय सेना की विशेषताएं हैं। लगभग हर तरह की रण भूमि के माहौल से वाकिफ और रासायनिक और परमाणु खतरों के दौर में भारतीय सेना आसमान से लेकर समुद्र तक सभी क्षेत्रों में किसी भी मिशन के लिए पूरी तरह तैयार है।
भारतीय सेना को सर्वश्रेष्ठ बनाने में सबसे अधिक योगदान यहाँ के पुरुषों की वीरता और कम संसाधन होने के बावजूद रणभूमि में अपना सर्वस्व देना है ऐसा ही 1 वाकया प्रथम विश्वयुद्ध में हुआ हाइफा युद्ध से है जिसमें ब्रिटैन की तरफ से जोधपुर के सेनापति मेजर दलपत सिंह ने लिया जिसमे दुश्मन के पास बन्दूक और गोलाबारूद होने के बावजूद इन्होंने घोड़ो और तलवारो से युद्ध को जीतकर हाइफा को आजाद करा लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Do NOT follow this link or you will be banned from the site!
Translate »