बॉलीवुड की 3 डरावनी फिल्में, जिन्हें देखकर आपकी रूह कांप उठेगी

कुछ लोगों को डरावनी फिल्में देखने का बहुत शौंक होता है। हॉरर मूवीज के मामले में तो हॉलीवुड सबसे आगे है। अक्सर लोग हॉलीवुड की डरावनी मूवीज को ज़्यादा देखना पसंद करते है। लेकिन डरावनी फिल्मों के मामले में बॉलीवुड भी कम नहीं है। आज हम आपको बॉलीवुड की कुछ ऐसी हॉरर मूवीज के बारे में बताने जा रहे है, जिनको देख कर लोगों के रोंगटे खड़े हो जाते है।

परी (2018)
रूखसाना (अनुष्का शर्मा) की माँ की कार एक्सीडेंट से मौत हो जाती है। जिस यक्ति की कार से वह मरती है, उसको मालूम नहीं होता है कि ये मां बेटी शैतान है। वह रूखसाना को अपने घर में ले आता है। घर ले आने के बाद उस यक्ति को एहसास होता है कि रूखसाना में कुछ तो अजीब है। वहीं से उस यक्ति की जिंदगी नॉर्मल नहीं रहती और अजीब घटनाएं शुरू हो जाती है।

लुप्त (2018)
फिल्म में हर्ष टंडन (जावेद जाफरी) एक बिजनेसमैन है। उसको अचानक कुछ आत्मा या भूत दिखाई देने लगते है। इसी कारण नींद न आने के कारण डॉक्टर उसे कहीं हॉलीडे पर जाने की सलाह देते है। हर्ष अपनी फैमिली के साथ कार से नैनीताल के लिए रवाना हो जाता है। रास्ते में उनकी गाड़ी ख़राब हो जाती है। वहीं से उनके साथ भूतिया घटनाएं शुरू हो जाती है।

1921 (2018)
इस फिल्म में करन कुंद्रा- आयुष और जरीन खान- रोज़ के किरदार में है। फिल्म में आयुष इंग्लैंड में म्यूजिक सीखने जाता है। वहां जिस घर में आयुष रहता है, वहां उसका पाला बुरी आत्माओं से पड़ने लगता है। रोज़ उन प्रेत-आत्माओं को देख सकती है और आयुष का उनसे छुटकारा दिलाने की कोशिश करती है।
दोबारा (2017)
यह फिल्म अमेरिकन हॉरर फिल्म ओकुलस का हिंदी रीमेक है। इस फिल्म में कबीर मर्चेंट (साकिब सलीम) और नताशा मर्चेंट (हुमा कुरैशी) है। एक दिन उनके पिता आईना खरीद कर लाते है, वह आईना भूतिया होता है। इसी दौरान कबीर और नताशा के माता पिता की मौत हो जाती है। दोनों बहन भाई इस भूतिया रहस्यमई मौत का कारण जानने का प्रयास करते है।

द फाइनल एग्जिट (2017)
एक फैशन फोटोग्राफर विद्युत (कुणाल रॉय कपूर) जो कि ड्रग एडिक्ट भी है और वह हैलुसिनेशन का शिकार हो जाता है। कभी वह सपने में जाता और कभी सपनों से बाहर आता है। वो ऐसी- ऐसी चीज़ें देखने लगता है, जो असल में होती ही नहीं। यह एक सुपर नेचुरल थ्रिलर फिल्म है जो जीवन, मृत्यु और आत्माओं के बीच घूमती रहती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »