बारिश की पानी की तरह बरसेगा पैसा अगर स्नान करते समय बोलते रहेंगे ये मंत्र

यह सुनने में अजीब लगता है लेकिन वास्तव में शास्त्रों में एक मंत्र व्यक्त किया गया है जो स्नान करने से सभी धन से संबंधित समस्याओं को कम करता है। हमारे धर्म में स्नान को एक विशेष महत्व दिया गया है क्योंकि स्नान करने से शरीर की अशुद्धियाँ मिट जाती हैं। और हिंदू धर्म में केवल मंदिरों में पूजा करने वाले लोग ही स्नान करते हैं। बिना स्नान किए पूजा करना भगवान का अपमान माना जाता है। शास्त्रों में लिखा है कि जो व्यक्ति शरीर और मन से स्वच्छ होता है उसकी देवी-देवता भी सुनते है। यही कारण है कि हम रोज नहाते हैं ताकि हम साफ रह सकें और ऐसा करने से बीमारी होने की संभावना कम होती है।

तो हम आपको एक ऐसा चमत्कारी मंत्र बताएंगे जिससे आप पुण्य प्राप्त कर सकते हैं। इस मंत्र की इतनी पवित्रता है कि स्नान करते समय इसका जप करने से इंसान की किस्मत बदल जाती है और धन की कमी समाप्त हो जाती है। दरअसल यह मंत्र धन पाने के रास्ते में आने वाली बाधाओं को दूर करता है और धन प्राप्ति के सारे रास्ते खोल देता है। जब हम स्नान करते हैं तो सभी अशुद्धियाँ दूर हो जाती हैं लेकिन फिर भी हमारे शरीर में कुछ ऐसी नकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है जो स्नान करते समय इस मंत्र के जप से भंग हो जाती है।

मुनि और ऋषि लोग अक्सर स्नान करते समय अपने मन में कोई न कोई मंत्र दोहराते हैं जिसके परिणामस्वरूप बहुत अच्छे परिणाम मिलते हैं। यदि इस मंत्र का जाप नहाते समय ॐ कार की ध्वनि से पालती लगाकर स्नान करते समय और आँखों को बंद करके लगातार किया जाता है तो इसका फल बहुत अधिक है और यह बहुत फायदेमंद भी है। एक और बात ध्यान रखें कि अगर आप इस मंत्र का जप कम आवाज के साथ मन में करते हैं तो आपको अधिक लाभ होता है और यही जप का सही तरीका है।

स्नान मंत्र 

गंगे च यमुने चैव गोदावरी सरस्वती।

नर्मदे सिन्धु कावेरी जले

अस्मिन सन्निधिम कुरु।। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »