बांस से बना एक अनोखा पुल जिसे हर साल बारिश में तोड़कर गर्मियों मे दोबारा बनाया जाता है, जानिए ऐसा क्यों किया जाता है

कंबोडिया के पास मेकोंग नदी पर बांस का बना एक ऐसा अनोखा पुल है, जो अपनी संरचना के लिए दुनिया भर में काफी मशहूर है। इस पुल की ख़ास बात यह है कि इसको गर्मी के मौसम में बनाया जाता है और बारिश शुरू होते ही इसको तोड़ दिया जाता है। यह पुल कामपोंग चाम और कोह पेन को एक-दूसरे से जोड़ता है।

कंबोडिया के इस 3300 फ़ीट लंबे पुल को बनाने के लिए हर साल तक़रीबन 50 हज़ार बांस लगते हैं| हर साल मई से नवंबर के बीच बारिश के मौसम में इस पुल में लगे बांस को खोलकर रख लिया जाता है। अगले साल फिर गर्मियों के मौसम में इसका इस्तेमाल करके फिर से पुल का निर्माण किया जाता है।

इस पुल को हर साल इसलिए तोड़ा जाता है, क्योंकि बरसात के मौसम (मई से नवंबर) में मेकोंग नदी का जल स्तर काफ़ी बढ़ जाता है, और कही बांस पानी में बह न जाएं,इसलिए, इनको खोलकर रख लिया जाता है, और गर्मियों में फिर से इसका इस्तेमाल कर के पुल का निर्माण किया जाता है |

इस पुल को इस तरह से बनाया जाता है कि इसमें पैदल यात्री, साइकिल, मोटरबाइक, कार और ट्रक भी असानी से गुजर सके |.इस पुल से गुज़रने वाले लोगों को टैक्स के रूप में 100 रिएल चुकाने पड़ते हैं,जब कि विदेशी पर्यटकों को इसके लिए 40 गुना अधिक कीमत चुकानी पड़ती है|


पिछले साल मेकोंग नदी पर इस पुल के पास कंक्रीट का पुल भी बन चूका है। इससे लोगों में डर हो गया है, कि कही बांस के पुल की परंपरा खत्म ना हो जाये । मगर यहां आने वाले विदेशी पर्यटकों का कहना है, कि बांस का यह पुल अब भी पूरी मजबूती से बना हुआ है। अब इस पुल का सिर्फ पैदल यात्री ही इस्तेमाल करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »