बकरीद पर UP सरकार ने जारी की गाइडलाइन, घर पर ही पढ़नी होगी नमाज, भीड़ इकट्ठा होने पर रोक

देश में ईद-उल-अजहा यानी बकरीद का त्योहार 1 अगस्त को मनाया जाएगा। कोरोना संकट के बीच उत्तर प्रदेश सरकार ने बकरीद और
जानवरों की कुर्बानी के लिए गाइडलाइन जारी की है। इसके तहत किसी भी धार्मिक स्थल में सामूहिक रूप से भीड़ इकट्ठा न की
जाए।

सभी लोगों को घर में ही नमाज अदा करनी होगी। मस्जिद में सामूहिक नमाज अदा नहीं की जाएगी। दरअसल, सावन के आखिरी
सोमवार को ही बकरीद पड़ रही है, लिहाजा पुलिस ने विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिये हैं। कहा गया है कि कुर्बानी खुले में नहीं होगी,
साथ ही प्रतिबंधित पशुओं की कुर्बानी नहीं दी जाएगी। धर्मगुरुओं से भी अपील की गई है कि वे इस गाइडलाइन के बाबत लोगों को
जागरूक करें।


वहीं संभल से समाजवादी पार्टी के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क इन मुश्किल हालात में भी बकरीद पर मस्जिदों में नमाज की मांग कर रहे
हैं। इस पर बीजेपी विधायक संगीत सोम ने उन्हें जेल भेजने तक की धमकी दे डाली। उन्होंने कहा कि कोई उनके नमाज पढ़ने पर पाबंदी
नहीं लगा सकता।

बड़े त्यौहार के दिन मुसलमान बाजारों में जाकर जानवर खरीद कर लाते रहे है, लेकिन अब जानवरो के बाजार ही नहीं लग रहे है। ऐसे में त्यौहार कैसे हो सकता है। पाबंदी लगाना ठीक नहीं है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »