पिछले 42 साल से 151 बार साँपों ने काटा है इस महिला को लेकिन आज भी है जिन्दा, जानिए कैसे

इस धरती पर तमाम तरह के जीव जन्तु रहते है जिनमे से कुछ ऐसे जीव भी होते हैं जो काफी जहरीले होते है जिनमे से सांप भी एक ऐसा ही जीव है जो जहरीला और खतरनाक होते है लेकिन ऐसा नहीं है की इस धरती पर जितने भी सांप पाए जाते है वो सब जहरीले ही होते है आपको बता दे इस धरती के मात्र 10 ऐसे सांप होते है जहरीले होते है और बाकि के सभी सांप जहरीले नहीं होते होते |

साँपों से जुडी कई कहानियां हमने सुनी है जिसमे ये बताया जाता है की नाग और नागिन के जोड़े को कभी भी अलग नहीं करना चाहिए इन्हें बेवजह मरना नहीं चाहिए नहीं तो बड़ा पाप लगता है |हमारे बॉलीवुड और हॉलीवुड में भी नाग नागिनो की कई प्रेम कहानियों पर फिल्मे बन चुकी है जिनमे यही दिखाया गया है की यदि कोई नाग या नागिन में से किसी एक को मार देता है तो नाग और नागिन इसका बदला लेने के लिए 100 जन्मो तक पीछा नहीं छोड़ते और उस व्यक्ति का चेहरा अपनी आँखों में बसा लेते है और उसे मरने के बाद ही दम लेते हैं |

इसी के साथ ही यह भी मान्यता है की कभी भी साँपों की आँखों में आँखे डाल कर नहीं देखना चाहिए क्योंकि वो उसकी तस्वीर अपने आँखों में उतार लेते है जिससे उसपर काफी खतरा बन जाता है |आज हम आपको इन्हों नागों से जुड़ा एक ऐसा मामला बताने वाले है जिसे जानकर आपके भी रोंगटे खड़े हो जायेंगे |तो चलिए जानते हैं क्या है ये मामला

जैसा की हम सभी जानते है की साँपों से डर तो हर किसी को लगता है हालाँकि ये अलग बात की किसी को कम तो किसी को ज्यादा |कुछ लोगो को तो साँपों से इतना ज्यादा डर लगता है की वो साँपों का नाम सुनने मटर से बेहोश हो जाते है |लेकिन आज हम आपको एक ऐसी महिला के बारे में बताने वाले है जिसे 1 या 2 बार नहीं बल्कि पूरे 151 बार नागों ने डसा है लेकिन फिर भी वो जिन्दा है |आपको भी ये बात सुनकर जरुर आश्चर्य होगा लेकिन हम आपको बता दे ये जानकारी 100 फीसदी सच है |

आपको बता दे हम जिस महिला की हम बात कर रहे है उनका नाम कला देवी है जिनकी उम्र इस वक्त 60 वर्ष है इन्हें अब तक करीब 151 बार साँपों ने डसा है और इन्होने खुद बताया है की जब के मात्र 18 साल की थी तब उन्हें पहली बार सांप से डसा था जिसके बाद आज तक उनके शरीर का कोई ऐसा अंग नहीं बचा है जहाँ उन्हें साँपों ने डसा न हो लेकिन आज भी वो जिन्दा है |

कई बार तो कला देवी साँपों के डर से मन्दिर में ही रहने लगी थी लेकिन जब वो मन्दिर से अपने घर जाने लगती थी तो उन्हें रस्ते में ही सांप डस लिया करते थे लेकिन उनके परिवार वाले इसका इलाज जड़ी बूटियों से करते थे और कभी कभी तो कला देवी को पूरे हफ्ते तो कभी पूरे महीने होश नहीं आता था लेकिन फिर भी वह अंत में मौत को मात दे कर उठ जाती है.

दोस्तों यह पोस्ट आपको कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं और अगर यह पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर लाइक करना ना भूलें और अगर आप हमारे चैनल पर नए हैं तो आप हमारे चैनल को फॉलो कर सकते हैं ताकि ऐसी खबरें आप रोजाना पा सके धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *