पाक का ’60 वर्षीय’ पुरुष गर्भवत,यह जानकर आपके होश उड़ जाएंगे

अब तक दुनिया में ऐसे बहुत कम घटना सामने आई है, जिसमें कि पुरुष गर्भपात हुए हैं और बच्चे को जन्म भी दिया। दुनिया भर में कुछ पुरुषों ने सामान्य रूप से बच्चे को जन्म दिया ठीक उसी प्रकार जिस प्रकार एक महिला देती है उन्होंने 9 माह बच्चे को कोख में रखकर स्वास्थ्य शिशु को जन्मा है। बुजुर्ग महिला का भी गर्व होना हैरतअंगेज है सामान्य रूप में अधिकतर जवान महिलाएं ही गर्व होती है क्योंकि उन्हीं में जन्म देने की क्षमता होती है। तो क्या यह 60 वर्षीय बुजुर्ग पुरुष सच में गर्व है? चलिए जानते हैं।

यह 60 वर्षीय बुजुर्ग पुरुष पाकिस्तान का है। यह बुजुर्ग पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के खानेवाल मैं डी एच क्यू नामक अस्पताल में इलाज के लिए गया था। उस अस्पताल के पास ही एक लैब की रिपोर्ट ने 60 वर्षीय पुरुष को गर्भ बताया। अल्ला बिट्टा नामक यह बुजुर्ग खानेवाल के डी एच क्यू हॉस्पिटल में इलाज करवाने आया था। यह बीमार था इसलिए जांच के लिए आया था।

वहां उसे कुछ टेस्ट लैब में करवाने को कहा गया, उसमें यूरिन का टेस्ट भी शामिल था। वह एक प्राइवेट लैब में अपने सारे टेस्ट करवाने के लिए गया। रिपोर्ट आने पर उसके और डॉक्टर परिवार आदि लोगों के होश उड़ गए। वास्तविक है कोई भी सामान्य व्यक्ति ऐसी रोचक घटना पर आसानी से भरोसा नहीं कर पाता और उसके होश उड़ ही जाते हैं रिपोर्ट में उसे गर्व बताया गया था। यह रिपोर्ट 15 अप्रैल को आई। वह और उसका परिवार हैरान था। उसके परिवार को इस रिपोर्ट से कठिनाइयों का सामना करना पड़ा। जब यह सूचना सरकारी अधिकारियों तक पहुंची तो, उन्हें शक हुआ उन्हें ऐसा लगा कि इसमें जरूर कुछ न कुछ गड़बड़ है।

यह मामला पाक के हेल्थ केयर कमिश्नर तक गया। तब उन्होंने जांच-पड़ताल शुरू कर दी इसके पश्चात, खानेवाल के डिस्ट्रिक्ट कमिश्नर ने लैब को सील किया। वहां के मालिक अमीन को गिरफ्तार किया।

यह लैब बीएचयू हॉस्पिटल के पास ही है लैब की पूरी जांच-पड़ताल के बाद हेल्थ डिपार्टमेंट ने कहा कि यह लैब अवैध तरीके से पिछले 2 साल से चल रही थी। यहां तक कि यहां पर कोई वैद्य डॉक्टर भी नहीं थे। यहां पर पिछले 2 साल से अवैध रूप से इलाज हो रहा था और इसी कारण यहां पर कई मृत्यु भी हुई क्योंकि यहां ना तो वैध लैब है और ना ही वैद्य डॉक्टर है।

जब यह खबर सोशल मीडिया पर फैली तो दुनिया-भर के लोगों ने पाक की स्वास्थ्य व्यवस्था की जमकर खिल्ली उड़ाई। वह पूर्ण रूप से यह तक साबित नहीं कर पाए कि उस बुजुर्ग को क्या हुआ था। कुछ को लगता है कि यह फेक न्यूज़ है जो कि सोशल मीडिया पर सब फैला रहे हैं। तो कुछ इस घटना में सरकार को जिम्मेदार ठहराते हैं, तो कुछ कहते हैं कि अब लैब की रिपोर्ट पर भरोसा कैसे करेंगे? यहां पर इलाज कराना कई लोगों के लिए घातक साबित हुआ।

सब यहां की स्वास्थ्य व्यवस्था के साथ-साथ सरकारी व्यवस्थाओं को भी दोषी ठहरा रहे हैं। यदि सरकार ठीक से इन इलाकों पर गौर फरमाती तो, शायद आज सोशल मीडिया पर उनकी इस तरह खिल्ली ना उड़ाई जाती और न ही उन्हें इतना अपमान सहना पड़ता। उन्हें इस अवैध लैब और अस्पताल के अवैध रूप पर गौर पहले ही फरमाना चाहिए था। 2 साल से वह लैब अवैध रूप से चल रहा था। ना जाने कितनों की उसने जान ली होगी और डॉक्टर अवैध होने के बाद भी उनका इलाज करते रहे उसका नतीजा पता नहीं कितने परिवारों को झेलना पढ़ा होगा।

पाक के पंजाब प्रांत में स्वास्थ्य व्यवस्था बहुत ही खराब है। यहां लोग गरीब है जिसके कारण बड़े अस्पताल में नहीं जा सकते और सभी डॉक्टर अवैध है। आपको बता दें कि यहां के सरकारी अस्पताल की हालत भी बहुत खराब है, कई बार गलत रिपोर्ट और गलत इलाज के कारण यहां के लोगों की जानें जाती है.

अब क्या अस्पताल में इलाज से भी लोगों को डरना पड़ेगा? इस घटना के बाद हमें यह सोचना पड़ता है की अगर लैब की रिपोर्ट गलत आए तो डॉक्टर भी उस रिपोर्ट के माध्यम से ही हमारा इलाज करेंगे जाहिर है कि अगर रिपोर्ट गलत आई है तो हमारा इलाज कैसे सही होगा हां हमारा इलाज भी गलत ही होगा क्योंकि लैब की रिपोर्ट में जो बीमारी सामने आई होगी डॉक्टर भी उसी का इलाज करेगा और इससे हमारी जान जाने के काफी आसार हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »