परमाणु परीक्षण के लिए प्याज की आवश्यकता क्यों होती है?

ऐसा कहा जाता है कि एनडीए सरकार ने पोखरण परमाणु परीक्षण की रेडियो धर्मिता (विकिरण) को दबाने के लिए परमाणु परीक्षण वाले स्थानों पर कई टन प्याज दफन कर दिए थे। इससे देश में प्याज की कमी हो गई थी और बाजार में इसकी कीमतें आसमान छूने लगी थीं।

ऐसा कोई जरूरी नहीं है कि सभी देश परमाणु परीक्षण के लिए प्याज का उपयोग करे भारत ने मजबूरी में प्याज का उपयोग किया था क्योंकि भारत ने पोखरण में जो परीक्षण किया था वहां से पाकिस्तान और जैसलमेर दोनों बहुत पास थे और परमाणु परीक्षण विफल हो जाता तो बहुत दूर तक रेडियो विकिरण फैल सकता था आने वाली मनुष्यों की पीढ़ी बर्बाद हो सकती थी जैसा हिरोशिमा और नागासाकी में परमाणु हमले के बाद हुआ । प्याज में ये क्षमता होती है कि वो किसी भी विकिरणों को अवशोषित कर सके । बस बहुत बड़ी जनसंख्या को बचाने के लिए प्याज का उपयोग किया।

हालांकि पोखरण में परमाणु परीक्षण वाले स्थानों पर हजारों टन प्याज के दफन किए जाने के सुबूत अभी तक सामने नहीं आ पाए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »