नहीं देखा होगा ऐसा हत्यारा मासूम क्रिमिनल उम्र 8 क़त्ल 3

आज हम आपको ऐसे ही एक सीरियल किलर के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसकी तब उम्र महज 8 साल थी। लेकिन जुर्म इतना बड़ा था कि उस पर शायद ही किसी को यकीन हो।

‘मासूम क्रिमिनल’ सीरीज के तहत आइए जानते हैं उस खौफनाक दास्तां के बारे में…
– मामला 2007 का है। बिहार के बेगूसराय के मुसहरी गांव में एक के बाद एक दो मासूमों की हत्या हुई। गांव में दहशत फैल गई। लेकिन जब एक और बच्चे की हत्या हुई, तो सब सकते में आ गए।
– सब हैरान थे कि रहस्यमयी तरीके से कौन इन हत्याओं को अंजाम दे रहा है। कातिल सबके सामने था, लेकिन कोई विश्वास नहीं कर रहा था। दरअसल, इन तीनों हत्याओं के पीछे 8 साल का एक बच्चा था। जिसका नाम अमरदीप सदा था। 1998 में उसका जन्म एक मजदूर परिवार में हुआ था। अमरदीप को दुनिया का सबसे कम उम्र का सीरियल किलर माना गया।

बहन तक को नहीं बख्शा
– रिपोर्ट के मुताबिक, अमरदीप ने सगी बहन की भी बेरहमी से जान ले ली थी। अरेस्ट होने से पहले उसका आखिरी शिकार पड़ोस में रहने वाली 6 महीने की बच्ची थी। उसके सिर पर पत्थर से तब तक हमला करता रहा, जब तक उसकी सांसें उखड़ नहीं गई। फिर उसकी लाश को खेत में कहीं दबा दिया। अमरदीप का तीनों शिकार मासूम थे।
जवाब सुन हैरात में पड़ गई थी पुलिस
– पुलिस ने जब अमरदीप से इन हत्याओं के पीछे की वजह पूछी, तो उसकी बातें सुन सब हैरान रह गए। उसका कहना था कि लोगों को मारने में उसे मजा आता था। इसीलिए उसने उनकी हत्या कर दी।

गुनाह कबूलने के लिए मांगता था बिस्किट
– रिपोर्ट के मुताबिक, पूछताछ में हर गुनाह कबूलने के बदले पुलिस से वह बिस्किट मांगता था। केस की जांच करने वाले पुलिस अफसर का कहना था कि उन्होंने इससे पहले ऐसा केस नहीं देखा था।
– बताया जाता है कि पुलिस की डांटा का भी इस मासूम क्रिमिनल पर कोई असर नहीं पड़ता था।
– हालांकि, केस की सुनवाई में यह माना गया कि हत्या के वक्त बच्चे को सही-गलत का कोई अंदाजा नहीं था, इसलिए उसे बाल सुधार गृह भेज दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »