दुनिया में सबसे ज्यादा अंधविश्वास किस देश में फैला है? जानिए

दुनिया में ऐसी कोई जगह नहीं होगी जहां अंधविश्वास न हों यहां तक की अमेरिका भी इससे अछूता नहीं है। अमेरिका में 13 नम्बर को लेकर डर किसी अंधविश्वास से कम नहीं है। लेकिन बहुत से देशों में इस अंधविश्वास नें भयावह रूप ले चुका हैैं। इस अंधविश्वास के चलते हर साल हजारो लोगो की जाने जाती हैं या शारिरिक और मानसिक रूप से तड़पना पड़ता है।

अफ्रीका के कांगों में अगर किसी को अपने बच्चे की परवरिश नहीं करना होती हैं तो उसके लिए आसान सा रास्ता है कि उसे डायन या काला जादू करने वाला कह दो और घर से निकाल दो। ऐसा अक्सर सौतेले बच्चे या उनके रिश्तेदार के बच्चे जो मरने के बाद किसी और के जिम्मे कर गये है ।इतना ही नही लोग दुश्मनी के चलते एक दूसरे के बच्चे को विच कह देते हैं उसके बाद उसके पैरेंट्स प्रीस्ट के पास उसकी शुद्धि करने के लिए ले जाते है जहां बच्चे को ऐसा टार्चर किया जाता है जो थर्ड डीग्री से दर्द नाक होते हैं ।

दूसरा माडर्न युगांडा है जहां जादू टोने ने बड़े पैमाने पर अपनी जगह बना रखी है। यहां ओझा यह दावा करते है कि उनके पास कई तरह की समस्याओं का समाधान है ।उसके चिए अगर उन्हे बच्चो का अपहरण करके मारे जाने कह संख्या की इससे कही गंना ज्यादा होगी। इतना ही नही यह तांत्रिक बच्चो के अंगो का कई तरह का इस्तेमाल करते है यहां तक की खा भी जाते है।

नेपाल में जिन औरतो के पति की मौत हो जाती है उन्हे बोक्शी कहा जाता है, और लोगो को ऐसा मानना होता है कि पतियो के मरने के पीछे इनकी ही भूमिका होती है। इनके गांव में रहने से गांव में प्राकृतिक आपदाये आती है ।इसलिए इन बोक्शी को मार.पीट, सामाजिक बहिष्कार, गर्म सलाखों से दागा जाना, आंख में मिर्च झोंकना, यहां तक कि जिंदा जला देने जैसी खौफनाक परिस्थितियों का सामना करना पड़ता है।

रोमनिया में विच को एक अहम दर्जा मिला हुआ है। लोग इनके पास अपनी किस्मत को सुधारने के लिए आते है। इसके लिए इन्हे उक बड़ी रकम भी दी जाती हैै । इतना ही नही रोमनिया मे यह पूरी तरह लीगल है । सरकार को ये लोग अपनी आय में से टैक्स भी देते है और सरकार ने इन पर टैक्स की दर भी बढ़ाई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »