दुनिया की सबसे पहली फोर व्हीलर गाड़ी कैसी थी और क्यों?

आज के समय में इंसान के लिए कार बहुत ज्यादा जरूरी बन गई है, क्योंकि इसकी मदद से एक स्थान से दूसरे स्थान पर बहुत ही आसानी के साथ कम समय में पहुंचा जा सकता है। देश और दुनिया की जानी-मानी ऑटोमोबाइल कंपनियां एक से बढ़कर एक बेहतरीन कारें लॉन्च करती रहती हैं और अब कारों का डिजाइन शानदार और फीचर्स हाइटेक होते जा रहे हैं, लेकिन क्या आप ये जानते हैं कि दुनिया की सबसे पहली मोटरकार कैसी थी और उसके फीचर्स कैसे थे। आज हम आपको यहां ये बताएंगे कि दुनिया की पहली कार कैसी थी।

कगनोट फर्डियर Cugnot Fardier थी दुनिया की पहली कार…

फ्रांस के निकोलस जोसफ कगनोट ने आर्मी की मांग पर 1769 में दुनिया की पहली कार का आविष्कार किया था। दिखने में ये कार काफी शानदार लग रही है, दुनिया की ये पहली कार वैसी नहीं है जैसी आज की कारें होती हैं। इस कार को 1769 में लोगों के सामने पेश किया था। फ्रांस में इस कार का निर्माण सिर्फ आर्मी के लिए किया गया था। ये एक भाप से चलने वाली कार थी, जिसे सड़कों पर बिना किसी अन्य मदद के चलने लायक बनाया गया था।

इस कार को मिलिटरी के लिए तैयार किया गया था, ताकि इस पर रखकर वो खुद एक जगह से दूसरी जगह जा सकें और अपना सामान जैसा हथियार, बम और गोले एक जगह से दूसरी जगह लेकर जा सकें। स्पीड की बात की जाए तो ये कार 4.82 किमी प्रति घंटे की स्पीड से चल सकती थी।

इस गाड़ी को इतना मजबूत बनाया गया था कि इस पर 5 टन का वजन ले जाया जा सकता था। ये कार लगातार 1 घंटे 15 मिनट तक बिना रुके चल सकती थी। इस कार को वर्तमान में फ्रांस की राजधानी पेरिस के Musee Des Arts Et Metiers म्यूजियम में रखा हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »