दुनिया का सबसे बड़ा एवं बदबूदार फूल जिससे सड़े माँस के समान दुर्गंध आती है,जानिए इसके बारे में

फूलों के बारे में सुनकर ही हमारे दिमाग में एक मनमोहक सुगंध का आभास होता है. फूलों का इस्तेमाल भगवान की पूजा के साथ साथ और भी कहीं कार्यों में होता है. विशेषकर अपने किसी प्रियजन को भेंट के रूप में इसे प्यार की निशानी के तौर पर दिया जाता है.

फूल कई प्रकार के होते हैं विभिन्न रंगों के एवं विभिन्न आकार के. लेकिन आज हम जिस फूल के बारे में बात करने जा रहे हैं वह ना केवल विश्व का सबसे विशाल फूल है बल्कि यह सुगंध नहीं दुर्गंध फैलाता है.
जी हां दोस्तों यह सच है, तो आइए जानते हैं दुनिया के सबसे बड़े एवं बदबूदार फूल के बारे में जिसका नाम है “Rafflesia arnoldii“.

Rafflesia arnoldii-दुनिया का सबसे बड़ा एवं बदबूदार फूल
इस फूल की खोज का श्रेय एक French botanist को जाता है. इनका नाम था Louis Auguste Deschamps. जिन्होंने सबसे पहले इस फूल को इंडोनेशिया के एक द्वीप पर खोजा था.

इसका नामकरण इस फूल के ऊपर खोज करने वाले दो botanists के सम्मान में रखा गया है जिनका नाम Lady Raffles तथा Arnold था और इन दोनों नामों को मिलाकर इसका नामकरण हुआ है

यह फूल मुख्य रूप से इंडोनेशिया के जंगलों में पाया जाता है और यह बहुत ही दुर्लभ प्रजाति का फूल है और तो और यह इंडोनेशिया के तीन राष्ट्रीय फूलों में से एक है.

हालांकि आकार में इस फूल से बड़े भी कहीं फूल हैं लेकिन technically वे एक फूल नहीं है बल्कि cluster of small flowers है. जिसके चलते Rafflesia arnoldii को ही दुनिया का सबसे बड़ा फूल होने का खिताब हासिल है.

Rafflesia arnoldii फूल का diameter 3.3 feet का हो सकता है लेकिन आज तक का सबसे बड़ा फूल अधिकतम 3.44 feet diameter का रिकॉर्ड किया गया है.

इसका अधिकतम वजन 11 किलो तक हो सकता है एवं यह गोभी के फूल के समान आकृति में से खिलते हैं
इस फूल के बारे में सबसे रोचक बात यह है कि इसके जड़, तने एवं पत्तियां नहीं होती है

यहां तक की इसमें chlorophyll भी नहीं होता है जो कि प्रकाश संश्लेषण के द्वारा पौधों में भोजन का निर्माण करता है.
यह फूल शैवाल के समान अस्तित्व में आता है और अपने विकास के लिए यह अपने आसपास उगे हुए दूसरी प्रजाति के छोटे पौधों पर निर्भर होता है.

यह अपने आसपास उपस्थित दूसरे छोटे पौधों से पोषक तत्व एवं पानी की जरूरत को पूरा कर लेता है.
यह फूल खिलने से थोड़े दिन पहले ही अस्तित्व में आता है इसका आवरण dark maroon color का होता है और सबसे मुख्य बात यह बहुत ही दुर्गंध छोड़ता है.

इसकी दुर्गंध के पीछे क्या कारण है यह तो ज्ञात नहीं हो पाया है किंतु यह सड़े माँस के समान बहुत ही गंदी बदबू छोड़ता है
इस प्रजाति के फूल दुनिया के इकलौते ऐसे फूल होंगे जो खुशबूदार ना होकर बदबूदार होते हैं.
इस फूल को खिलने में कई महीनों का समय लगता है एवं खिलने के पश्चात यह केवल कुछ दिनों के लिए ही जीवित रहते हैं.

इंडोनेशिया के जंगलों में इन्हें खोजना बहुत ही मुश्किल है क्योंकि यह बहुत ही सीमित एवं दुर्लभ होते हैं,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »