दसवीं की छात्र ने लिखा पापा मेरे दसवें में सभी नफरत करने वाली को बुलाना

उत्तर प्रदेश के बरेली में 10वीं के छात्र का सुसाइड करने का मामला सामने आया है। जबकि 16 साल के कार्तिक सक्सेना के शव के पास से मिले सुसाइड नोट को पढ़कर न सिर्फ पुलिस सन्न रह गई बल्कि पिता और करीबी भी दंग रह गए। यही नहीं, उसने अपने सुसाइड नोट में उससे नफरत करने वालों को भी बुलाने की बात भी लिखी है। सुसाइड नोट से हुआ ये खुलासा, 16 साल के कार्तिक सक्सेना ने सुसाइड नोट में लिखा कि उसकी शक्ल लड़कियों जैसी लगती है और लोग हंसी उड़ाते हैं।

अब तो उसे भी लगने लगा है कि वह किन्नर है और अब आत्महत्या ही उसके लिए एक रास्ता बचा है। उसने आगे लिखा है कि मैं एक अच्छा लड़का नहीं हूं और कुछ नहीं कर सकता है। उसके अंदर पिता की तरह कमाने की लगन नहीं हैं वह एक सिंगर था और बच्चों को आर्ट सिखाना चाहता था, लेकिन किन्नर के लक्षण होने के साथ जीता तो अपने पिता के जीवन में ग्रहण बन जाता, जिसके कारण उसका मरना जरुरी है।

अगर परिवार में कोई लड़की जन्म ले तो समझ लेना वह उसका दूसरा जन्म हैं। जबकि कार्तिक ने मौत के लिए किसी को जिम्मेदार नहीं ठहराया। मुझे नफरत करने वालों को अंतिम संस्कार में बुलाना, कार्तिक ने सुसाइड नोट में उससे नफरत करने वालों को भी बुलाने की बात लिखी है, जो कि हैरान करने वाली है।

उसने लिखा, पापा मेरे दसवें में नानी समेत उन सबको बुलाना, जो इतनी नफरत करते थे। वो देखेंगे की मैं अब जिंदा नहीं हूं। इसके साथ ही उसने अंतिम इच्छा भी जाहिर की कि बेटा समझते हैं तो उसे दफन न करें. उसका श्मशान में अंतिम संस्कार करें और अस्थियों को कछला में बहाया जाए.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Translate »
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x