जितना लगता है क्रिकेट उतना आसान नहीं है, जानिए कैसे

पिच: 22 गज / 72 फुट / 21.9 मीटर, जहां आपको बल्लेबाजी करनी होती है, लगभग 140 किमी प्रति घंटे / 38.8 मीटर प्रति सेकंड की गति से तेज गेंदबाजी का सामना करना पड़ता है।

समय = 21.9 / 38.8 = 0.56 सेकंड।

आप जानते हैं कि, आपका दिल एक बार धड़कने के लिए 0.8 सेकंड लेता है और यहां 140 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गेंद का सामना करने के लिए आपके पास केवल 0.56 सेकंड हैं।

सोचिये कि 145+ किमी प्रति घंटे की गति हो तो क्या होगा।

विज्ञान के अनुसार, एक दृश्य उत्तेजना के लिए मानव प्रतिक्रिया समय 0.25 सेकंड है। इसका मतलब है कि हम चीज़ होने के 0.25 सेकंड बाद प्रतिक्रिया देते हैं।

अंत में, समय = 0.56 – 0.25 = 0.31 सेकंड

तो, आप स्पष्ट रूप से देख सकते हैं कि बल्लेबाज के पास निर्णय लेने और चुनने के लिए केवल 0.31 सेकंड का समय होता है 

  • गेंदबाज द्वारा उपयोग की जाने वाली भिन्नता और आने वाली डिलीवरी की गति।

रिवर्स स्विंग, इन-स्विंग, आउट-स्विंग, कटर, नॉक बॉल, यॉर्कर……आदि

  • गेंद को कहाँ टिप्पा खिलाना है?

शॉर्ट ऑफ लेंथ, गुड लेंथ, फुल लेंथ, बाउंसर, ऑफ स्टंप के बाहर…।

  • पिच द्वारा पेश की जा रही उछाल और स्विंग को ध्यान में रखना होता है।
  • फील्डिंग टीम द्वारा तय किए गए फ़ील्ड प्लेसमेंट में से सही गेप खोजना होता है।

लॉन्ग ऑफ / ऑन, मिड ऑफ / ऑन, फाइन लेग, गली, कवर, एक्स्ट्रा कवर, डीप मिड विकेट, स्लिप, कैचिंग स्लिप, थर्ड मैन एरिया…

  • ग्राउंडेड शॉट खेलना है या लॉफ्टेड शॉट।

कवर ड्राइव, स्क्वायर कट, पुल, स्वीप, स्ट्रेट ड्राइव, फ्लिक, अपर कट, रिवर्स स्वीप या कोई अपरंपरागत शॉट।

बेहतरीन तेज गेंदबाजी विकल्पों के खिलाफ खेले जाने वाले टेस्ट मैचों की बात करते है –

  • आपको यह तय करना होगा कि 5 वें स्टंप के बाहर की गेंद को खेलना है / डिफेंड करना है / या अटैक करना है, या नहीं करना है।

यह एक शुद्ध, उत्तम दर्जे का क्रिकेट शॉट मारने के लिए बहुत अधिक प्रयास लगता है। जो आपके टीवी स्क्रीन पर दिखता है उससे कई गुना अधिक।


यही कारण है कि मैं हमेशा कहता हूं – आप किसी एक खिलाड़ी को बुरी तरह से प्रदर्शन करने के लिए पैसे दे कर खरीद सकते हैं, लेकिन आप एक पूरे क्रिकेट मैच की स्क्रिप्ट नहीं लिख सकते .. असंभव !!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »