जानिए भारत के इन 5 कॉलेजों से जुड़ी कुछ भूतिया कहानी,जानिए इसके बारे में

  1. सेंट बेडे कॉलेज, शिमला – छात्रों के मुताबिक, रात में डाइनिंग रूम से तेज़ सीटी बजने और अस्पष्ट आवाज़ सुनाई देती हैं. मगर कॉलेज के सीनियर लोगों का कहना है कि ये पहाड़ियों में हवा के बहाव और पत्तियों की सरसराहट की आवाज़ है, लेकिन छात्रों ने अजीब-अजीब चीज़ें महसूस की हैं. इसलिए अंधेरे के बाद वहां जाने से बचते हैं.
  2. आईआईटी (IIT), रुड़की – माना जाता है कि इस कॉलेज में एक छात्र की आत्मा रहती है, जिसने कुछ साल पहले हॉस्टल के एक कमरे में कथित रूप से आत्महत्या कर ली थी. रिपोर्ट्स की मानें, तो फांसी लगाकर आत्महत्या करने वाले छात्र की आत्मा आज भी उस कमरे में है. कमरे से गुज़रने वाले छात्र अकसर असहज और भारी महसूस करते हैं, जिसके चलते उस कमरे के पास कोई नहीं जाता है.
  3. मद्रास क्रिश्चियन कॉलेज – लोगों का कहना है कि खाली केमेस्ट्री लैब से अकसर किसी प्रोफ़ेसर के पढ़ाने की आवाज़ें आती हैं. मद्रास का ये कॉलेज भारत के सबसे हॉन्टेड कॉलेजों में से एक है. यहां आने वाले लोगों और छात्रों ने अकसर खाली लैब में टीचर के पढ़ाने की आवाज़ सुनी है, लेकिन ये किसकी आत्मा है या ये कौन है अभी तक रहस्य है.
  4. एसएनडीटी गर्ल्स कॉलेज, मुंबई – छात्रों का कहना है कि यहां बच्चों के रोने की आवाज़ें आती है. इसके अलावा ये भी बताया कि रात 2 बजे के क़रीब एक महिला मल्टीप्लीकेशन टेबल्स सुनाती है. उनका मानना है कि आवाज़ें उस जगह से आती हैं जहां पहले स्टाफ़ क्वार्टर हुआ करते थे.
  5. यूनिवर्सिटी ऑफ़ पुणे – ये माना जाता है कि एक अंग्रेज अफसर जेम्स फर्ग्यूसन की भतीजी ऐलिस रिचमैन की 1886 में हैजे से मृत्यु हो गई और उसे सावित्रीबाई फुले पुणे विश्वविद्यालय में एक बगीचे में दफ़नाया गया. हालांकि,यहां लोगों में उसकी मृत्यु के बारे में अलग-अलग कहानियां हैं. कुछ का मानना है कि उसने या तो आत्महत्या कर ली या उसे किसी ने मार डाला. लोगों का दावा है कि ऐलिस रिचमैन की आत्मा रात में एक सफ़ेद गाउन में कॉलेज में घूमती देखी गई थी.

दोस्तों यह पोस्ट आपको कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं और अगर यह पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर लाइक करना ना भूलें और अगर आप हमारे चैनल पर नए हैं तो आप हमारे चैनल को फॉलो कर सकते हैं ताकि ऐसी खबरें आप रोजाना पा सके धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »