जब उमेश यादव ने टेस्ट मैच में 10 गेंद, 5 छक्के, 31 रन बनाकर दर्ज़ किया यह रिकॉर्ड

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच सीरीज का तीसरा और अंतिम मैच रांची में खेला जा रहा है। इस मैच में प्लेइंग इलेवन में उमेश यादव को शामिल किया गया। मैच के दूसरे दिन इस भारतीय गेंदबाज ने बता दिया कि उन्हें प्लेइंग इलेवन में चुनकर कोई गलती नहीं की गई है। मैच के दूसरे दिन उमेश यादव ने पहले अपने बल्ले से शानदार खेल दिखाया और इसके बाद एक विकेट भी हासिल किया। उमेश यादव ने अपनी शानदार बल्लेबाजी दिखाते हुए कुछ खास रिकॉर्ड भी अपने नाम दर्ज कर लिए हैं।

उमेश यादव ने दूसरे दिन 10 गेंदों में 31 रनों की पारी खेली। इस पारी में उन्होंने ताबड़तोड़ 5 छक्के जड़े। उमेश यादव रवींद्र जडेजा के आउट होने के बाद क्रीज पर आए और उन्होंने पहली दो गेंदों पर छक्के लगाकर अपनी बल्लेबाजी की शुरुआत की। उमेश यादव ने जॉर्ज लिंडे को अपना निशाना बनाया। इसके बाद डेब्यू कर रहे जॉर्ड लिंडे के दूसरे ओवर में यादव ने तीन छक्के जड़े।

उमेश यादव 10 गेंदों में 31रन बनाकर आउट हुए। टेस्ट क्रिकेट में यह उनका अधिकतम स्कोर है। इस शानदार प्रदर्शन से उमेश यादव बल्ले से कई रिकॉर्ड तोड़े। वह तेज 30 या उससे अधिक रन बनाने वाला खिलाड़ी बन गए हैं। उन्होंने स्टीफन फ्लेमिंग के रिकॉर्ड को तोड़ा। फ्लेमिंग ने 1998 में 11 गेंदों में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ नाबाद 31 रन बनाए थे।

अब्दुर रज्जाक ने जिंबाब्वे के खिलाफ 2011 में 17 गेंदों में 43 रन बनाए थे। ऑस्ट्रेलिया के डब्ल्यूपी हॉल ने 15 गेंदों में 35 रन की पारी खेली थी।

बल्लेबाजी के दौरान उमेश यादव का स्ट्राइक 310.00 रहा। यह 10 या उससे अधिक गेंदें खेलने के बाद टेस्ट इतिहास में सबसे अधिक स्ट्राइक रेट है। इसके साथ ही उमेश यादव टेस्ट इतिहास के ऐसे पहले बल्लेबाज हैं, जिन्होंने एक पारी में बिना कोई चौका जड़े 5 छक्के जड़े हैं।

इसके साथ ही उमेश यादव सचिन तेंदुलकर के साथ एक खास इलीट क्लब में भी शामिल हो गए हैं। टेस्ट क्रिकेट में बल्लेबाजी करते हुए पहली दो गेंदों पर लगातार दो छक्के जडऩे के मामले में उमेश ने सचिन की बराबरी कर ली है। यह रिकॉर्ड सबसे पहले फॉफी विलियम्स के नाम दर्ज था।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Translate »
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x