छतरी वाली छिपकली” ! डायनासोर की वंशज। यह छिपकली, केवल ‘दो पैरों’ पर चलती है

यह छिपकली ऑस्ट्रेलिया के उत्तर में और न्यू गिनी में पाई जाती है। यह उष्णकटिबंधीय और गर्म समशीतोष्ण जंगलों झाड़ियों इत्यादि में निवास करती है। छतरी वाली छिपकली को अंग्रेजी में फिल्म “फ्रिल छिपकली” भी कहते हैं। इसका बायोलॉजिकल नाम Chlamydosaurus kingii है।

यह जब भी अपने शत्रु या शिकारी के सामने आती है तो, अपने आप को बड़ा और खतरनाक दिखाने के लिए अपनी गर्दन के पास से एक छतरी खोल लेती है। यह छतरी आकार में लगभग उसके शरीर के बराबर अर्थात 9 इंच से 15 इंच चौड़ी हो सकती है। साथ ही मुंह को भी खतरनाक रूप में खोलकर बड़ा एवं आक्रामक बना लेती है।

जिससे सांप, जंगली बिल्ली या अन्य शिकारी, इसके हमलावर रूप को देखकर डर जाते हैं।

शिकारी को डरा हुआ या पीछे हटा हुआ देखकर; यह छिपकली अपने खुली हुई छतरी के साथ में ही दो पैरों पर तेजी से भागने में सक्षम होती है। दो पैर भर भागने की इसकी क्षमता के अनुसार इस को “साइकिल छिपकली” भी कहा जाता है।

इस प्रजाति की छिपकली ‘मादा’ जमीन में घोंसला या सुरंग इत्यादि बनाकर अंडे देती है। यह एक बार में 8 से 23 अंडे देते हैं। यह 9 इंच से 30 इंच तक लम्बी हो सकती है। तथा वजन 3 से 4 किलो तक पाया जाता है।

यह कई प्रकार के नीले, लाल, पीले, सफेद अन्य कई प्रकार के रंगों में मिलती है । सामान्य अवस्था में यह छतरी गर्दन पर चिपक जाती है। जिसका सामान्यतः एहसास नहीं होता है।

“छतरी वाली छिपकली” कीट-पतंगे, छोटी छिपकली, पेड़ों या जमीन पर पाए जाने वाले इस प्रकार के जानवरों का भोजन करती है । इनकी सामान्य उम्र लगभग 20 साल तक हो सकती है।

इसी प्रकार के अन्य मजेदार और जानकारी पूर्ण आर्टिकल के लिएए कृपया हमें फॉलो कीजिए। इस प्रकार के आर्टिकल आपको प्रतिदिन मिलेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »