चेहरे पर झुर्रियां दिखाई देने लगी हैं, तो ये उपाय करें, त्वचा जवान दिखेगी

चेहरे पर झुर्रियां देखकर लोगों का आत्मविश्वास कम होने लगता है और वे सोचते हैं कि वे जल्द बूढ़े हो जाएंगे। लेकिन, आपको दुखी होने की जरूरत नहीं है। बस अपनी त्वचा की देखभाल करें और इन छोटी चीजों का पालन करें। आपके चेहरे पर ग्लो भी दिखने लगेगा और झुर्रियां कम होने लगेंगी।

ऐसा कहा जाता है कि अगर चेहरे पर झुर्रियां या झुर्रियां दिखाई देती हैं, तो त्वचा पर उम्र बढ़ने का असर दिखने लगा है। क्योंकि उम्र बढ़ने के पहले संकेत के रूप में चेहरे पर झुर्रियां उभरने लगती हैं। लेकिन, आजकल के युवाओं के चेहरे पर भी समय से पहले झुर्रियां दिखाई देने लगती हैं। इसका कारण जीवनशैली और प्रदूषण को माना जाता है। इसके अलावा अस्वास्थ्यकर भोजन, स्ट्रेटनिंग और पर्याप्त नींद न लेना भी समस्याएं पैदा करता है। झुर्रियाँ देखने पर, लोगों का विश्वास कम हो जाता है, और वे सोचते हैं कि वे जल्द ही बूढ़े हो जाएंगे। लेकिन, आपको दुखी होने की जरूरत नहीं है। बस अपनी त्वचा की देखभाल करें और इन छोटी चीजों का पालन करें। आपके चेहरे पर ग्लो भी आएगा और झुर्रियां कम होने लगेंगी। (झुर्रियों का घरेलू उपचार हिंदी में)

झुर्रियां क्यों होती हैं?

खराब गुणवत्ता वाले त्वचा उत्पादों का उपयोग

लंबे समय तक त्वचा की शुष्कता का ख्याल न रखें

प्रदूषण

नींद की कमी

तनाव या चिंता

झुर्रियों से बचने के लिए स्किनकेयर टिप्स:

त्वचा को पोषण दें

अपनी त्वचा को सूखने से बचाएं। क्योंकि त्वचा का सूखापन उसे बूढ़ा और बूढ़ा बना देता है। इसलिए, अपने चेहरे को देखने से आप बूढ़े दिखते हैं। चेहरे की सफाई सुबह और शाम को करें। फिर, इसे किसी अच्छे मॉइस्चराइजिंग क्रीम से मालिश करें। इससे चेहरे की त्वचा को पोषण मिलेगा, त्वचा की कोशिकाओं की मरम्मत होगी और आपकी त्वचा जवां दिखेगी।

धूप से सुरक्षा

यूवी किरणें त्वचा को बहुत नुकसान पहुंचाती हैं। इसलिए जब भी धूप की आवश्यकता हो सनस्क्रीन लगाएं। इसी तरह, स्कार्फ, स्कार्फ, डी कैप का उपयोग करें। चेहरे की त्वचा को धूप के सीधे संपर्क में आने से बचाएं।

तनाव से बचें

तनाव न केवल आपके शरीर और मस्तिष्क को बल्कि आपकी त्वचा को भी प्रभावित करता है। जो लोग चिंता या तनाव महसूस करते हैं वे समय से पहले बूढ़े होने लगते हैं। दरअसल, जब लोग तनाव महसूस करते हैं, तो शरीर में कोर्टिसोल हार्मोन बनने लगता है। ये त्वचा के कोलेजन को नुकसान पहुंचाते हैं। नतीजतन, त्वचा की प्राकृतिक चमक कम होने लगती है और वह पुरानी लगने लगती है।

8 घंटे की नींद आवश्यक है

अक्सर नींद की कमी भी हमारी त्वचा की समस्याओं का कारण होती है। इसलिए, यदि आप देर रात तक जागते हैं या नींद में सोते हैं। इसलिए इस आदत को बदलिए। रोजाना 8 घंटे की नींद लें। दरअसल, नींद के दौरान त्वचा की मरम्मत होती है। हालांकि, नींद की कमी के कारण त्वचा को ठीक होने का समय नहीं मिल पाता है। तनाव भी बढ़ता है। जिसका असर त्वचा पर दिखाई देता है।

स्वस्थ आहार

एक संतुलित आहार भी स्वस्थ त्वचा पाने में मदद करता है। इसलिए मौसम के अनुसार सब्जियों और फलों को अपने आहार में शामिल करना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »