क्यों रात में कपड़े धो कर बाहर नहीं सुखाने चाहिए?

रात को बुरी आत्माएं आसमान में भ्रमण करती हैं। ये आत्माएं किसी वक्त हमारी तरह ही मनुष्य थीं। बुरे कर्मों की वजह से इन्हें प्रेत, भूत, चुड़ैल, पिशाच आदि की योनि मिलती है।

इन योनियों में जाने के बाद इनके अंदर भूख, प्यास, भावनाओं का सागर उमड़ता रहता है लेकिन उसे तृप्त करने के लिए शरीर नहीं रहता। इन आत्माओं के अंदर इतनी भूख रहती है कि सारे संसार का अनाज कम पड़ जाए, इतने प्यासे रहते हैं कि सारे समुद्र का पानी पी जाएं।

इस तरह जब ये आत्माएं रात में विचरण करती हैं तब छत पर या आंगन में डाले गए परिधानों को देखकर इनकी गति स्थिर हो जाती है। वे वस्त्रों के आसपास मंडराते हैं और यदि वह वस्त्र महिला का है तब उसी में समा जाते हैं। सुबह जब कोई उस वस्त्र को पहनता है तब बुरी आत्माएं उस पर अपना नकारात्मक प्रभाव डालने लगती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »