क्या RO का पानी हड्डियों को कमजोर बनाता है?

इसके लगातार सेवन से आपको हृदय संबंधी विकार, थकान महसूस होना, मानसिक कमजोरी और मांसपेशियों में ऐठन या सिरदर्द जैसे कई रोग हो सकते हैं। आरओ का पानी पीने से मानव शरीर को भारी नुकसान पहुंचता है। शोध से पता चला है कि जब आरो पानी फिल्टर करता है तो वह इस पानी में से अच्छे व बुरे मिनरल्स हो पूरी तरह निकाल देता है, क्योंकि उस मशीन को अच्छे या बुरे मिनरल्स की पहचान नहीं होती है। इस तरह का पानी पीने से आपको फायदे की जगह नुकसान पहुंचाता है।

आरओ का इस्तेमाल वहीं, करना चाहिए। जहां टीडीएस की मात्रा बहुत ज्यादा हो ऐसे क्षेत्रों में आप आरओ की मशीन का इस्तेमाल कर सकते हैं। जिनके घरों में आरओ की मशीन लगी है। उन्होंने बीमार बनने का सामान अपने घर में लगा दिया है। लंबे समय तक इसका उपयोग करना वास्तव में नुकसानदायक साबित हो सकता है। इसलिए जहां तक संभव हो क्लोरीन का इस्तेमाल करें, जिससे पानी में उपस्थित लाभदायक बैक्टीरिया नष्ट नहीं होते और इसकी तुलना में ये काफी सुरक्षित होता है।

घरों में सप्लाई होने वाले पानी में अगर TDS 500mg/लीटर से कम है तो RO को बैन कर देना चाहिए।

मिट्टी के घड़े के पानी को प्राथमिकता देनी चाहिए, इसलिए वह सारे तत्व होते हैं जो हमारे शरीर को चाहिए ।

आरओ का पानी फिल्टर करने में पानी में उपस्थित जरूरी कैल्शियम और मैग्नीशियम 90 प्रतिषत से 99 प्रतिषत तक नष्ट हो जाते हैं। इस तरह का पानी पीने से आपके शरीर में नुकसान होने की संभावना काफी बढ़ जाती है और हड्डियां कमजोर होने का खतरा होता है । यहाँ आपकी जानकारी के लिए बता दें एशिया और यूरोप के कई देश आरओ पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगा चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »