क्या Google सच में हमारी एक्टिविटी पर नजर रखता है? जानिए सच

यदि आप यह जानना चाहते हैं कि गूगल आपकी एक्टिविटी पर नजर रखता है | तो इसका जवाब है हां |

यदि आप एंड्राइड फोन का इस्तेमाल कर रहे हैं तो आपको पता होगा कि इसे गूगल ने खरीदा है | और हर एक फोन मैन्यूफैक्चर को गूगल के बनाए हुए एंड्रॉयड वर्जन को इस्तेमाल करना होता है | वह भी गूगल के एप्स के साथ |

अगर इसे हम आसान भाषा में कहें तो गूगल फोन मैन्यूफैक्चर से कोई भी license फीस नहीं लेता | बस बदले में यह मानता है कि गूगल की बनाई गई बाकी ऐप preload करके अपना फोन बेचे |

अपने एंड्रॉयड वर्जन में क्या कोड रखता है, यह गूगल की अपनी मर्जी है | कोई भी फोन मैन्यूफैक्चर गूगल को इस बात के लिए चुनौती नहीं दे सकता |

और यही कारण है कि गूगल कई ऐसे tools का इस्तेमाल करता है जिससे कि आपका डाटा खंगाला जाए |

गूगल आपके हर एक फोन एक्टिविटी नजर रखता है | यह एक्टिविटी सर्च तक ही सीमित नहीं है | आप कौन सा ऐप कितनी देर तक चलाते इस बात का भी अंदाजा गूगल को है |

यदि आपको मेरी बात पर विश्वास नहीं है तो आप अपने क्रोम ब्राउजर में ‘Google My Activity’ सर्च करके देखिए | आपको यह पता लग जाएगा कि गूगल आपके फोन एक्टिविटी पर कितनी नजर रखता है |

इस तरह आप पर नजर रखकर आप से जुड़ी ज्यादा से ज्यादा जानकारी गूगल के पास चली जाती है | जिसका इस्तेमाल में आपको और अच्छे से विज्ञापन दिखाने में करता है | क्योंकि विज्ञापन दिखाना ही उसका मुख्य बिजनेस मॉडल है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »