क्या स्मार्टफोन में रैम का ज्यादा होना जरूरी है, कि इंटरनल मेमोरी का?

रैम

इस प्रकार से समझते है कि रैम का कार्य स्मार्टफोन में ऑपरेटिंग सिस्टम को लोड करने का है और साथ ही साथ यह आपके स्मार्टफोन में एप के लोड और कार्य के लिए स्पेस प्रदान करता है जिससे मल्टीटास्किंग किया जा सके, एक एप से दुसरे एप में जाना बिना किसी परेशानी के इससे संभव होता है |

कहने के तात्पर्य यह है कि स्मार्टफोन में अधिक रैम होने से आपके ऐप तीव्र गति से लोड होंगे और एक एप से दुसरे ऐप में जाना आसान होता है और एक समय पर एक से अधिक ऐप का आप उपयोग बड़ी आसानी से कर पाएंगे |

गेमिंग में अधिक रैम होने का बहुत ही अच्छा एडवांसमेंट होता है इससे गेम जल्दी लोड होती है, अच्छी स्पीड से आप गेम खेल सकते है और कम मेमोरी के वजह से गेम हैंग होता है या कई बार आप गेम से बाहर भी आ जाते है |

इंटरनल मेमोरी

वहीँ इंटरनल मेमोरी की बात की जाए तो इंटरनल मेमोरी आपको आपके स्मार्टफोन में स्थान प्रदान करती है जहाँ आप अपने पर्सनल डाटा, फोटो,विडियो और डाक्यूमेंट्स रखते है |

इंटरनल मेमोरी जितनी आखिक होगी उतना अधिक डाटा आप अपने स्मार्टफोन में रख पाएंगे, यदि आप ऐसे है जो बहुत से डाटा, विडियो , ऑडियो,फोटो रखना पसंद करते है और ज्यादा एप अपने स्मार्टफोन में इनस्टॉल नहीं करते तो आपके लिए रैम से ज्यादा इंटरनल स्टोरेज मायने रखता है|

यदि आप उन लोगो में से है जो अपने स्मार्टफोन में बहुत सारे एप रखना पसंद करते है और गेमिंग भी करते है तो आपको एक अच्छी रैम वाले स्मार्टफोन को देखना चाहिए |

स्मार्टफोन जो मेमोरी कार्ड सपोर्ट के साथ आते है वो खरीदना एक अच्छा आप्शन हो सकता है जब इंटरनल मेमोरी कम हो इंटरनल स्टोरेज को मेमोरी कार्ड से बढाया जा सकता है किन्तु एक बार किसी एक रेम स्टोरेज वाला फ़ोन आपने लिया तो रैम नहीं बढाया जा सकता है |

अंत में मैं येही कहूँगा कि जितने मोबाइल में रैम की जरूरत है उतना ही इंटरनल मेमोरी का भी है जैसे में ऊपर दोनों की जरूरत के बारे में मैं आपको बताया , अब आपका निर्णय है कि आपको ज्यादा रैम वाला स्मार्टफोन चाहिए या इंटरनल स्टोरेज वाला , 3GB Ram/32GB इंटरनल मेमोरी स्मार्टफोन में आज के समय में जरूर होने चाहिए|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »