क्या किस्मत धोखा देती है?

किस्मत धोखा देती है इसमें कोई दो राय नहीं है, धोखा अचानक मिलता है लेकिन जब किस्मत साथ देती है तो भाग्य बंदा/व्यक्ति जीरो से हीरो हो जाता है इसमें भी दो राय नहीं है, क्यों देती है किस्मत धोखा और कैसे देती है किस्मत धोखा जानेंगे, किस्मत का धोखा देना हम सब के लिए किसी बहुत बड़े नुकसान से कम नहीं है,

  • खूब जी तोड़ मेहनत करने के बाद,
    • एक ऐसा मुकाम आता है
      • जहां पर आकर हमें किस्मत पर निर्भर होना ही पड़ता है
  1. भले ही हम माने या ना माने
  2. वह जीवन का बहुत बड़ा प्रभाव क्षेत्र है
    1. दुर्घटना,
    2. परीक्षा में पास /फेल होना,
    3. किसी विषय वस्तु की प्राप्ति होना, जो आपके जीवन में को कई गुना बढ़ा दे, उन्नति पर ले जाए
    4. सारी चीज हमारी किस्मत के अधीन है
    5. कौन बनाता है किस्मत एक बहुत बड़ा सवाल है ?
  3. ज्योतिष में सब कुछ योग के ही कारण होता है,
  4. योग शब्द को समझकर किस्मत को और उससे मिलने वाली बेवफाई अथवा वफादारी को समझा जा सकता है
  5. जन्म कुंडली में नवम भाव भाग्य का भाव है, धोखा के बारे में संपूर्ण जानकारी मिलती है यहीं से पता चलता है कि आपका भाग्य कितना बलवान है,भाग्य आपका कितना साथ देगा ? देगा भी कि नहीं ?
    1. अब किसके जन्मांग में भाग स्थान पर राहु बैठ जाए तो वह भूल जाएगी उसका भाग्य उसका कभी साथ देगा
    2. भाग्य स्थान पर नीच राशि का कोई ग्रह बैठ जाए तो आप यह भूल जाएं कि किस्मत आपका साथ देगी
    3. इसी प्रकार अष्टम भाव का स्वामी छठे भाव का स्वामी भाग्य स्थान पर बैठ जाए तो आप भूल जाएं भाग्य आपका साथ देगा
  6. लोग पूछते हैं इतना सारा ज्योतिष का ज्ञान आप कहां से लाए तो मैं उनको बताना चाहता हूं और आप सभी को यह बताना चाहता हूं कि इस उत्तर का मूल स्रोत ज्योतिषाचार्य आशुतोष वार्ष्णेय प्रयागराज की मुझको और मेरे जैसे हजारों को प्रदान की ज्योतिष की वैज्ञानिक शिक्षा है, गहराई से समझने के साथ मैंने अपने खराब ग्रह दशा का उपचार किया यानी कि किस्मत ने मुझको धोखा दिया मैंने उपाय करके उस धोखे का बदला लिया किस्मत से.!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »