कोरोना वायरस शरीर को इस तरह करता है तबाह

कोरोना वायरस पूरी दुनिया में तेजी से 140 देशों पर फैल चुका है विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इसे महामारी घोषित कर दिया है कोरोना वायरस इंसानों में 19 नाम की एक बीमारी देता है. कोरोना वायरस का असली नाम सार्स सीओवी-2 है. इक्यू बेसन पीरियड संक्रमण और लक्षण दिखने के बीच का वक्त होता है. यह वह समय होता है जब वायरस शरीर में तरह जम जाता है. सांस लेने में तकलीफ होने लगती है और इसका असर गले की आसपास की कोशिकाओं पर पड़ता है।

यह सांस की नली और फेफड़ों पर हमला करता है यह दिखने में बिल्कुल मामूली बीमारी लगती है. इस वायरस के लक्षण खांसी और बुखार से होता है जिसमें आपको बदन दर्द, गले में खराश और सिर दर्द भी हो सकता है। कोरोना वायरस की अमूमन खांसी सूखी खांसी होती है जिसमें बलगम नहीं आता है. कुछ लोगों को खांसी में बलगम भी आने लगता है. इस लक्षण में डॉक्टर आपको आराम करने और खूब पानी पीने और पेरासिटामोल लेने की सलाह देता है।

यह स्थिति करीब 1 सप्ताह तक रहती है कि लोग स्वास्थ्य इम्युन सिस्टम को लड़ने मैं कामयाब होता है वह यह सप्ताह के भीतर ठीक होने लगता है. एक अध्ययन में सामने आया कि यह लक्षण सर्दी जुखाम में तथा नाक बहने में भी दिखते हैं इस लक्षणों से लड़ने के लिए हमारे शरीर के रोग प्रतिरोधक क्षमता इस वायरस को खत्म करने के लिए सबसे अधिक काम करता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Do NOT follow this link or you will be banned from the site!
Translate »