कॉल फॉर्वर्डिंग क्या है?

एक बार की बात है मैंने नया नया एंड्रॉयड मोबाइल लिया था उस समय मुझे ज्यादा कुछ मोबाइल के बारे में जानकारी नहीं थी और मुझे मोबाइल में कुछ नया सीखना बहुत अच्छा लगता था मै अपने फोन में कुछ ना कुछ खटर पटर करता रहता था कभी ये सेटिंग कभी वो सेटिंग चालू और बंद करता रहता था ।

एक दिन ऐसा हुआ कि मुझसे गलती से एक ऐसी सेटिंग ओन हो गई जिससे मेरे फोन पर जो भी कॉल्स आते और उन्हें मै answer नहीं करता तो वो कॉल्स जिन्हें मै रिसीव नहीं करता था वो मेरे एक दोस्त के नंबर पर forward हो जाते। बहुत से लोगो ने मुझसे सिकायत की कि भैया ये आपका ही नंबर है ना मैंने कहा हां ये मेरा ही मोबाइल नंबर है तो वे कहते मै तुम्हारे इस नंबर पर कॉल करता हूं तो तुम्हारा दोस्त क्यों फोन को उठाता है मै कहता क्या बात कर रहे हो मुझे कॉल करो और जब वे कॉल करते तो कॉल लग जाती और में उसे रिसीव भी कर लेता अब उनका भेजा भी खराब इधर मैंने भी दिमाग लगाया कि मैंने कुछ ना कुछ तो मिस्टेक की है जिसकी वजह से मेरे नंबर पर आने वाला काल मेरे दोस्त के पास फॉरवर्ड हो जाता है।

फिर मैंने बहुत इधर उधर से पूछा तो इस के बारे में किसी को भी नहीं पता फिर मैंने Consumer care को कॉल किया तब उन्होंने बताया की आपने अपने फोन में call forwarding वाली सेटिंग को on कर रखा है जिसकी वजह से आपके फोन पर आने वाली कॉल को जब आंसर नहीं किया जाता है या फोन बंद होता है या नेटवर्क क्षेत्र से बाहर होता है तब वे कॉल्स आपके दोस्त के नंबर पर फॉरवर्ड हो जाती है तब मैंने उनसे यह भी पूछा कि इसे बंद कैसे किया जाए तब उन्होंने मुझे बताया की अपने कॉल की सेटिंग में जाकर call farwarding वाले विकल्प को ऑफ कर दो तब मैंने इसे बंद किया और तब जाकर जो भी मुझे कॉल्स आते यदि में उन्हें आंसर भी नहीं करता तो वो फॉरवर्ड नहीं होते।

इस कहानी से आपको ज्ञात हो गया होगा की call forwarding क्या होती है।

  • जब आप कॉल फरवार्डिंग सेटिंग ऑन करते हैं तब आपके नंबर पर आने वाले कॉल्स उस स्थिति में जब आपका फोन बंद हो नेटवर्क छेत्र से बाहर हो या busy हो उस नंबर पर forward हो जाते हैं जिस नंबर आपने कॉल फार्डिंग enable करते समय डाला था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »